Best Ahmad faraz shayari 2 lines in Hindi | अहमद फराज़ 2 लाइन …

0
1700

एक पल जो तुझे भूलने का सोचता हूँ ‘फ़राज़’,
मेरी साँसें मेरी तकदीर से उलझ जाती हैं।

Ek pal jo tujhe bhoulane ka sochata hoon ‘Faraz’,
Meri saanse meri taqdeer se ulajh jati hai.

****

ये सोच कर तेरी महफ़िल में चला आया हूँ ‘फ़राज़’,
तेरी सोहबत में रहूँगा तो संवर जाऊंगा।

Ye soch kar teri mahfil mein chala aaya hoon ‘Faraz’,
Teri sohbat mein rahunga to sawar jaunga.

****

तुम तक़ल्लुफ़ को भी इख़लास समझते हो ‘फ़राज़’
दोस्त होता नहीं हर हाथ मिलाने वाला।

Tum taqalluf ko bhi ikhlas samjhte ho ‘Faraz’

Dost hota nahin har haath milane wala.

Advertisement

****

मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनिया में,
इधर तो हम पर जो गुज़री है हम ही जानते हैं।

Mohabbat Khubsurat Hogi Kisi Aur Duniya Mein,
Idhar Toh Hum Par Jo Gujri Hai Hum Hi Jante Hain.
****

घर से निकले थे कि दुनिया ने पुकारा था ‘फ़राज़’,
अब जो फुर्सत मिले दुनिया से तो घर जाएँ कहीं।

Ghar se nikale the ki duniya ne pukara tha ‘Faraz’,
Ab jo fursat mile duniya se to ghar jayen kahin.

****

हमने सोचा था कि बताएंगे दिल का दर्द तुमको,
पर तुमने तो इतना भी न पूछा कि खामोश क्यों हो।

Humne Socha Tha Ke Batayenge Dil Ka Dard Tumko,
Par Tumne Itna Bhi Na Puchha Ke Khamosh Kyun Ho.

****

कौन परेशां होता है तेरे ग़म से फ़राज़,
वो अपनी ही किसी बात पे रोया होगा।

Advertisement

Kaun pareshan hota hai tere gham se ‘Faraz’
Wo apni hi kisi baat pe roya hoga.

****

मुझ से हर बार नज़रें चुरा लेता है वो ‘फ़राज़’,
मैंने कागज़ पर भी बना के देखी हैं आँखें उसकी।

Mujh se har baar nazarein chura leta hai wo ‘Faraz’
Maine kagaz par bhi bana ke dekhi hain aankhein uski.

****

चढते सूरज के पुजारी तो लाखों हैं ‘फ़राज़’,
डूबते वक़्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा।

Chadhte Sooraj ke pujari to lakhon hai ‘Faraz’
Doobte waqt humne sooraj ko bhi tanha dekha.

****

वो ज़हर देता तो दुनीया की नज़रों में आ जाता “फराज़”,
सो उसने यूँ किया के वक़्त पे दवा न दी।

Wo zehar deta to duniya ki nazaron me aa jata “Faraz”
So usne yun kiya ke waqt pe dwa na di.

Advertisement

Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

1
2
3
4
5
6
साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here