26 जनवरी 2022: गणतंत्र दिवस क्या है, कब और क्यों मनाया जाता है? What is republic day?

0
151

आज के हमारे इस आर्टिकल में आपको भारत के गणतंत्र दिवस के बारे में बताया जायेगा कि भारत के नागरिक गणतंत्र दिवस क्यों मनाते है। जैसा कि आप जानते है कि हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है और इस दिन दिल्ली के लाल किले पर देश के राष्ट्रपति भारत का राष्टीय झंडा भी फहराते है। हमारे इस आर्टिकल में आपको गणतंत्र दिवस के बारे में सभी जानकारी प्रदान की जाएगी जिससे आप इस 26 जनवरी के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सके और यह जान सके कि हम लोग गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही क्यों मनाते है।अगर आप यह सभी जानकारी लेना चाहते है तो आप इस आर्टिकल पर बने रहे।

गणतंत्र दिवस क्या है ?What is republic day?

गणतंत्र दिवस वह दिन होता है जिस दिन हमारे देश ने संबिधान को स्वीकार किया था।26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संबिधान लागु किया था और जिसके बाद भारत एक लोकतान्त्रिक देश बन गया और उसी दिन 26 जनवरी 1950 को हमारे देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने राष्ट्रीय ध्वज का ध्वजारोहण किया था और इस कारण हम हर वर्ष भारत के नागरिक 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है।

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?Why is republic day celebrated?

जिस प्रकार हम साल में त्यौहार मनाते है उसी तरह 26 जनवरी 1950 का दिन हमारे देश के लिए काफी जरुरी दिन माना जाता है क्योंकि इस दिन हमारे देश में अंग्रेजो का कानून खत्म करके हमारे देश का अपना संबिधान लागु किया गया था और उस दिन से भारत में लोकतंत्र की शुरूआत हुई थी। इस दिन हमारे देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने भारत को पूर्ण गणतंत्र देश घोषित किया था।

हर वर्ष 26 जनवरी को हम सभी नागरिक गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है और इस दिन देशभर में राष्ट्रीय अवकाश होता है। अगर आप नही जानते तो आपको बता दू कि हमारे देश को आजाद करने में लाखो लोगो ने अपनी जाने गवां दी थी और लोगो ने लाठियां खाई जिसके बार हमारे देश को आजादी मिली। इसलिए हम उन लोगो की क़ुरबानी को याद करने और अपने देश में संबिधान लागु होने की ख़ुशी में इस गणतंत्र दिवस को मनाते है।

26 जनवरी का क्या महत्व है?Importance of 26 January

जिस प्रकार हमारे जीवन में बाकी सभी पर्वो का महत्व होता है इसी तरह सभी देश वासियों के जीवन में 26 जनवरी का महत्व होता है। हमारे देश के नागरिक हर वर्ष 26 जनवरी को अपने गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है। यह दिन हमे याद दिलाता है कि किस प्रकार हमारे देश के नागरिको ने इस अंग्रजो के कानून से आजादी पाई और अपना खुद का एक संबिधान बनाया जिससे देश की सभी कानून व्यवस्था बनाई जा सके।

गणतंत्र दिवस को कैसे मनाया जाता है?How is Republic Day celebrated?

आप में से बहुत से लोग यह जानते है कि गणतंत्र दिवस  को क्यों मनाया जाता है लेकिन अगर कोई नही जनता तो उसको बता दू कि हमारे देश में आजादी के बाद पहली बार संबिधान 26 जनवरी 1950  को लागु किया गया है इसलिए उस दिन को देश के सभी नागरिक गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है।

26 जनवरी 2021 को गणतंत्र दिवस की कौन सी वर्षगांठ है?What is the anniversary of Republic Day on 26 January 2021?

26 जनवरी 2021 को गणतंत्र दिवस की 72 वीं वर्षगांठ होगी।अगर आप इस गणतंत्र दिवस की परेड को देखना चाहते है तो आप दिल्ली के लाल किले पर आ सकते है जहाँ पर देश के  प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के साथ साथ अन्य कई लोग भी देश के नागरिको को संबोधित करते है और झंडा भी फहराते है।

26 जनवरी 1950 को क्या दिन था?What day was 26 January 1950?

यह काफी जरुरी सवाल होता है जो कई लोगो को पता नही होता है अगर आप यह जानना चाहते है कि 26 जनवरी 1950 को कौन सा दिन था तो आपको बता दू कि 26 जनवरी 1950 को गुरुवार का दिन था जिस दिन भारत का संबिधान स्वीकार किया गया था।

26 जनवरी 2021 के मुख्य अतिथि कौन है?Who is the chief guest of 26 January 2021?

जैसा कि आप जानते है कि हर साल हमारे स्वतंत्रता दिवस पर और गणतंत्र दिवस पर विदेश के कई राजनेताओ को बुलाया जाता है, इसीलिए इस बार 26 जनवरी 2021 के गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि यूनाइट किंगडम के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन होगे, जो कि गणतंत्र दिवस के मुख्य अथिति होगे।यूनाइट किंगडम के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत आने से दोनों देशो के संबंधो में काफी सुधार आएगा और कई तरह की कुछ योजनाओ को चलाया जा सकता है।

26 जनवरी को झंडा कौन फहराता है?Who hoists the flag on 26 January?

यह सवाल काफी जरुरी है जिसके कारण आपको इसका जवाव पता होना चाहिए क्योंकि यह प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे है तो आपको इसका जवाव पता होना चाहिए।26 जनवरी को हमारे देश के राष्ट्रपति झंडा फहराते है। अगर आप नही जानते तो आपको बता दू कि राष्ट्रपति संवैधानिक प्रमुख होते हैं जबकि हमारे देश में प्रधानमंत्री राजनीतिक प्रमुख होते है, इसलिए 26 जनवरी को हमारे देश के राष्ट्रपति ही झंडा फहराते है।

राजपथ पर 26 जनवरी को परेड की सलामी कौन लेता है?Who takes the salute of the parade on Rajpath on 26 January?

यह तो आप जानते हि है कि हर साल हमारे गणतंत्र दिवस पर परेड कराई जाती है और हमारे देश की सेनाएं सार्वजानिक रूप से अपनी परेड निकालती है।  इन सभी सेनाओ की जो परेड आयोजित की जाती है उसकी सलामी हमारे देश के राष्ट्रपति लेते है।

26 जनवरी का इतिहास हिंदी में | History of 26 January in Hindi

अगर आप 26 जनवरी का इतिहास जानना चाहते है तो आपको बता दू कि26 जनवरी 1950 को भारत के प्रथम राष्‍ट्रपति डॉ। राजेन्‍द्र प्रसाद ने पहली बार भारतीय राष्‍ट्रीय ध्‍वज को फहराकर भारतीय गणतंत्र की घो‍षणा की थी और भारत को एक गणतंत्र राष्ट्र बन जाने के बारे में बताया था। जैसा कि आप जानते है कि हमारे देश को आजादी 15 अगस्त 1947 को मिल गई थी लेकिन देश में कानून बनाने के लिए संबिधान को लिखना पड़ा जिसके कारण हमारे देश में 26 जनवरी 1950 को संबिधान लागु किया गया और उस दिन को हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

भारतीय संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को हुई थी, जिसमें भारत के नेताओं और अंग्रेजी कैबिनेट मिशन ने भाग लिया था इसके बाद भारत को एक संविधान देने पर बात की गयी जिसे यह एक गणतंत्र राज्य बन सके और इसके लिए कई चर्चाएँ, सिफारिशें और वाद-विवाद हुए लेकिन फिर बाद में कई बार संशोधन करने के बाद भारतीय संविधान को अंतिम रूप दिया गया जो 3 वर्ष बाद यानी 26 नवंबर 1949 को आधिकारिक रूप से स्वीकार कर लिया गया।

हर वर्ष इस गणतंत्र दिवस को मानना हमे यह याद दिलाता है कि हमारे देश को आजादी दिलाने के लिए लाखो लोगो ने अपना जीवन दाव पर लगाकर इस देश के लिए अपनी क़ुरबानी दे दी और इसके बाद ही हम सभी को आज़ादी मिल सकी है। इस दिन के लिए लगभग 20 वर्ष पहले सन् 1930 में इसे एक सपने के रूप में संकल्पित किया गया और इसके बाद हमारे देश के वीर क्रांतिकारियों ने सन 1950  तक इसको एक गणतंत्र देश बना दिया और इसके बाद हमारे देश में धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक राष्‍ट्र के रूप में भारत का निर्माण हुआ।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here