जानें होम लोन कैसे प्राप्त कर सकते हैं

0
38
home loan process in hindi

Home loan process in hindi – दोस्तो हर किसी का सपना होता है कि उसका अपना घर हो. लेकिन इस बढ़ती हुई मंहगाई को देखकर घर खरीदने या बनवाने को लेकर मध्यम वर्गीय परिवार के व्यक्ति को बहुत कठिनाई नज़र आती है. तब उसके मन में विचार आता है कि क्यों न ghar banane ke liye loan ले लिया जाये. लेकिन तभी मन में ये भी ख्याल आता है कि home loan Kaise le और home loan ke liye document क्या-क्या लगते हैं. क्या मुझे होम लोन मिल पायेगा या नहीं.

दोस्तो घर खरीदने (Home Purchage) या बनाने के लिए Home Loan एक बहुत ही अच्छा विकल्प हैं. हालांकि होम लोन लेने की प्रक्रिया ( home loan process in hindi ) थोड़ी कठिन होती है, लेकिन यदि आप Home Loan के बारे में पूरी प्रक्रिया जान और समझ लेते हैं तो होम लोन लेना बहुत आसान है.

तो दोस्तो आपकी इसी परेशानी को समझते हुए आज हम home loan ki jankari hindi me लेकर आये है.

Home loan process in hindi – गृह ऋण लेने की प्रक्रिया

दोस्तो यहां गृह ऋण लेने की प्रक्रिया (Home loan process in hindi ) के बारे में स्टेप-वाई-स्टेप बता रहे हैं. गृह ऋण के लिए आवेदन (home loan apply) करने से पहले स्वंय का मूल्यांकन (self assessment in hindi) कर कुछ बातों को भली-भांति जान लेना चाहिए.

सबसे पहले मकान की लागत (Cost of Property) क्या है उसे जान लेना चाहिए, क्योंकि आप जितनी कीमत का मकान खरीद रहे हैं उसमें कोई भी बैंक या फर्म का  Contribution 70%-80% होगा. बांकि बची हुई कीमत यानि करीब 20-30% आपको स्वंय (Own Contribution ) वहन करना होगा.

 इसके बाद दूसरी बड़ी बात है लोग की किश्तों का भुगतान (EMI Affordability), क्या आप लोग की किस्ते अदा करने में सक्षम हैं, आसानी से भर सकते हैं. इसका भी ध्यान रखना बहुत जरूर हैं. ध्यान रहे कि आपकी जो Monthly Income है उसकी 40%-45% से ज्यादा EMI नहीं होनी चाहिए.

इसके बाद तीसरी बड़ी चीज हैं लोन की अवधि(Loan Period) इसका भी विशेष ख्याल रखें. ध्यान रखें संभव तो लोन की अवधि कम ही रखें. इससे आपको ब्याज कम देना होगा.

इसे भी पढ़ें-प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा की सम्पर्ण जानकारी

Choosing the Right Loan Provider – लोन लेने वाली बैंक/फर्म का सही चुनाव

दोस्तो Home Loan लेने से पहले जिस बैंक या Housing Finance Company से लोन ले रहे हैं उसकी सभी Term & Conditions के बारे में जान/समझ लेना बहुत जरूरी है. Loan के लिए Apply करने से पहले बैंक द्वारा दी जाने वाली होम लोन योजनाओं (Home Loan Schemes) की नीचे दी गयी बातों के आधार पर आंकलन कर लेना चाहिए. आप इन बातों को जान और समझ लेंगे तो आपको बाद में परेशानी नहीं होगी.

  • Interest Rate – ब्याज दर home loan byaj dar
  • EMI – ऋण की किश्तें
  • Loan Period – लोन की अवधि
  • Interest Type ( ब्याज का तरीका ) – Fixed or Floating
  • Loan Prepayment Terms – ऋण समय से पहले बंद करने की शर्तें
  • Penalty for Late Payment – लेट EMI का दंड
  • Processing Fees – प्रोसेसिंग चार्ज
  • Tax Benefits – कर लाभ
  • Quantam of  Loan – ऋण की मात्रा
  • Loan Agreement –  सभी शर्ते दस्तावेज में लिखी है या नहीं
  • Loan Approval  Process – ऋण स्वीकृत करने की प्रक्रिया
  • Home Loan Transfer Process – लोन को अन्य बैंक में हस्तांतरित करने की शर्तें।

Fixed or Floating interest  rate क्या है?

दोस्तो ऊपर Fixed or Floating Interest Rate के बारे में जिक्र किया गया हैं तो आपको इसके बारे में जान लेना जरूरी है कि Fixed or Floating interest  rate क्या होता है?

दोस्तो बैंक के ब्याज दर ( Interest Rates  ) में RBI द्वारा समय-समय पर बदलाव होता रहता हैं, तो यहां Fixed or Floating Interest Rate का बड़ा महत्व हैं.

दोस्तो फ्लोटिंग ब्याज दर ( Floating Interest rate in hindi ) का मतलब होता हैं कि जब भी RBI द्वारा ब्याज दर कम या ज्यादा किये जायेंगे तो आपकी ब्याज दर और ईएमआई में भी बदलाव होगा. वहीं फिक्स ब्याद दर (Fixed Interest rate in hindi) का मतलब है कि आपकी पूरी Loan Period के दौरान एक ही ब्याज दर रहेगी.

इसे भी पढ़ें-किसान विकास पत्र स्कीम क्या है इसके फायदे क्या हैं?

Documents required for home loan – गृह ऋण के लिए जरूरी कागजात

दोस्तो home loan ke liye document के बारे में जान लेना बहुत जरूरी है, तो नीचे home loan document list दी गयी जिनका होना जरूरी है तभी आप लोन ले सकते हैं.

  • पहचान पत्र ( Identity proof  )
  • आयु प्रमाण- पत्र ( Age proof)
  • पते का प्रमाण ( Address proof )
  •  रोजगार की विस्तृत जानकारी ( Employment details )
  • शैक्षिक योग्यता का प्रमाण ( Proof of educational qualifications )
  • आय का प्रमाण ( Income proof ) – यहां आपको Form-16 / Income tax Return आदि दिखाना होगा.
  • संपत्ति का विवरण ( Details about the property if finalized)
  •  बैंक स्टेटमेंट ( Bank statements )
  • Sallary Slip – 3 या 6 माह की सैलरी स्लिप

Apply For Home Loan – गृह ऋण के लिए आवेदन

दोस्तो जब आप ऊपर दी गयी सभी बातों को पूरा कर लेते हैं, तो इसके बाद आप जिस बैंक से होम लोन लेना चाहते हैं उस निकटतम बैंक में जाकर गृह ऋण के लिए आवेदन (Apply For Home Loan) करने जा सकते हैं. बैंक जाकर आप बैंक मैनेजर या बैंक कर्मी से मिलकर पूरे प्रोसेस के बारे में और सही से जान सकते हैं ( आप प्रोसेसिंग फीस जो कि सभी बैंको की अलग-अलग होती है को भी जान सकते है) साथ ही आपके मन में किसी प्रकार का कोई संदेह हो तो आप उसके बारें में पूरी जानकारी लेने के बाद होम लोन लेने के लिए आवेदन फार्म ( Home Loan Form) लेकर भरें और उसके साथ सभी जरूरी कागजात ( Home Loan Document ) को Submit करें.

प्रिय पाठक जब आप All Document सहित Home Loan Form को बैंक में जमा कर देते हैं तो बैंक अपनी संतुष्टि के लिए विस्तृत जांच करती हैं. इस बीच यदि उसे कोई कागजात की कमीं नजर आती है तो वह आपसे पुनः डाक्यूमेंट मांग सकती हैं. इसमें कुछ दिन लग सकते हैं.

इसके बाद बैंक इस बात की जांच करवाता है कि आपके द्वारा फार्म में दर्शाया गया आपका निवास स्थान व आफिस का पता सही है किसी प्रकार का कोई झूठ तो नहीं बोला गया हैं.

इतना होने के बाद बैंक इस बात की तस्दीक करता है कि आपको दिये जा रहे होम लोन की कीमत को आप ब्याज सहित और सही समय पर ईएमआई को भरने में सक्षम हैं या नहीं. यदि बैंक को लगता है कि आप कर्ज अदा करने में सक्षम नहीं हैं तो बैंक लोन की मंजूरी नहीं देगा, वहीं यदि उसे लगता है कि आप लोन भर सकते हैं तो वह आवेदन को मंजूरी दे देता है.

Home loan Property valuation report and Verification –  सम्पत्ति का मूल्यांकन और कानूनी जांच

दोस्तो इसके बाद बैंक अपने वकील के माध्यम से आपके द्वारा सुझाई गयी सम्पत्ति की कानूनी जांच करेगा और इसके बाद वकील बैंक को Legal Verification Report देगा. इसके बाद बैंक सम्पत्ति के बाजार मूल्य का आंकलन करता है ताकि लोन की राशि को सुनिश्चित किया जा सके.

गृह ऋण को स्वीकृति देना ( Home Loan Sanction)

सब कुछ सही पाये जाने पर बैंक आपके द्वारा सुझायी गयी सम्पत्ति पर होम लोन को स्वीकृति दे देती ( Home Loan Sanction) है. साथ ही जो व्यक्ति लोन ले रहा है उसे एक स्वीकृति पत्र भी जारी करती हैं.

होम लोन का वितरण ( loan disbursement process )

जब एक बार लोन स्वीकृति हो जाती है तो इसके बाद सम्पत्ति खरीदने वाला व बेचने वाला संपत्ति पंजीकरण की तारीख तय करने के बाद बैंक को बता देते हैं इसके बाद बैंक संपत्ति के लिए डीडी/ बैंक चैक जारी कर देता हैं.

Read MoreWhat is whole life insurance and how does it work in Hindi

तो दोस्तो उम्मीद करते है कि हमारे द्वारा home loan process in hindi में दी गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी. आप हमे ghar banane ke liye loan के बारे में किसी प्रकार का कोई सुझाव हो जो जानकारी हमसे छूट गयी हो कमेंट करके बता सकते हैं. साथ ही आप इस home loan ki jankari hindi me को अपने मित्रों के साथ शेयर कर सकते हैं जिससे उन्हे भी इसके बारे में जानकारी हो सके.

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here