Car Ka Avishkar Kisne Kiya। कार का अविष्कार किसने किया था और कब?

0
192
कार का अविष्कार किसने किया था और कब

साइकिल के बाद मोटरसाइकिल, मोटरसाइकिल के बाद कार आखिरकार सुरक्षित सवारी की बात थी, इसलिए Car का अविष्कार हुआ। आज कार सुख-सुविधा, स्टेटस सिंबल की पहचान बन गई। लेकिन कार जब बनी थी तो सुविधा और सुरक्षा को ध्यान में रखकर बनाई गई थी, आज लगातार कार में सुधार हो रहा है हर साल नए नए कार लांच हो रहे हैं। यह जानना दिलचस्प होगा कि आखिर कार का अविष्कार किसने कब और कैसे किया? Car Ka Avishkar Kisne Kiya? सुरक्षित और लंबी दूरी तक यात्रा आरामदायक हो इसलिए कार्य के अविष्कार का काम 1880 के दशक में शुरू हो गया था।

दुनिया की पहली सफल कार कब बनी?

अठारह सौ अस्सी के दशक में कार बनाने की होड़ वैज्ञानिकों में लग गई थी। 1885 में पहली सफल कार्ड बनकर तैयार हो गई। इसका श्रेय जाता है- मिस्टर कार्ल बेन्ज़ (Karl Benz) । जर्मन मैकेनिकल इंजीनियर कार्ल बेन्ज़ ही संसार के पहले व्यक्ति थे, जिन्होंने 1885 में इंटरनल कॉम्बस्शन इंजन से चलने वाली दुनिया की पहली सफल कार बनाई।

मिस्टर कार्ल बेन्ज़ (Karl Benz)

कार्ल बेन्ज़ द्वारा बनाई गई दुनिया की पहली कार की क्या विशेषता है, आइए जाने –

इस कार का नाम ‘Motorwagen’ था।

 कार तीन पहियों वाली  थी। जिसमें लगभग साइकिल के आकार के पहिये लगे हुये थे।

कार्ल बेन्ज़ ने खुद का बनाया हुआ 954 cc का हल्का इंटरनल कंबशन इंजन लगाया था। इस कार को चलाने के लिए पेट्रोल का इधर लगता था।

इस कार में इस्तेमाल होने वाले कई कल पूर्वजों को जैसे – थ्राॅटल सिस्टम, स्पार्क प्लग, गियर शिफ्टर्स, वाटर रेडिएटर और कैब्युरटर इत्यादि  कार्ल बेन्ज़ ने सन् 1885 में ही मोटरकार बना ली थी। इस कार का पहली बार सार्वजनिक प्रदर्शन उसके कार का पेटेंट होने के बाद 30 जुलाई 1886  को जर्मनी के मानहाइम शहर में किया गया था।

दुनिया की सबसे पहली कार किसने चलाया था?

  •  सन 1886 के पश्चात बेंज ने अपने मोटर के दो और मॉडल बनाए। माॅडल नंबर-2 डेड हॉर्स पावर की और मॉडल नंबर 3 में 2 हॉर्स पावर का इंजन लगाया था।
  • मॉडल नंबर 3 की अधिकतम स्पीड 16 किलोमीटर प्रति घंटे की थी। उनकी पत्नी बार्था ने 5 अगस्त 1888 को अपने दोनों बच्चों के साथ 105 किलोमीटर की लंबी यात्रा इसी मॉडल से तय की।
  • कार्ल बेन्ज़ ने चार पहिये वाली पहली मोटरकार “Benz Velo” सन् 1894 में बनाई थी, जिसमें 3 हाॅर्स पावर का इंजन लगा था और अधिकतम रफ्तार 20 Km/hr थी।
  • Benz Velo संसार की पहली प्रोडक्शन मोटरकार थी। आप लोगों की बिक्री के लिए कार उपलब्ध कराया गया।
  • सन् 1894 और 1902 के बीच कुल 1200 बेन्ज़ वीलो कार बेटा जगह।
साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here