यातायात चिन्ह संकेत और नियमों के बारे में जानें – Know About Traffic Rules and Signals in Hindi

0
53
Yatayat Ke Niyam

हम अब जानते हैं कि भारत आबादी के मामले में दुनियाँ का दूसरा सबसे बड़ा देश है। इसी बड़ी जनसंख्या के कारण देश मे सामने कई तरह की चुनौतियाँ रहती हैं, जिनमे से एक भारत का ट्रैफिक है।

हमारे देश मे ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए Y atayat Ke Niyam बनाएं गए हैं। इन नियमो में यातायात चिन्ह और संकेत का खूब उपयोग किया गया है।

भारत जैसे बड़े देश मे Traffic Niyam स्पष्ठ होना जरूरी है, ताकि रोड में चल रहे लोगो की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके। पर यह  हम देश का दुर्भाग्य कहें या अशिक्षा, इतने Traffic Rules होने के बाद भी सही जानकारी न होने के कारण हर वर्ष हजारो लोग रोड दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं।

Traffic Rules और Traffic Signs की सही जानकारी होना बहुत जरूरी है। इसलिए आज हम ट्रैफिक रूल्स के बारे में जानेंगे,About Traffic Signals in Hindi.

इसमे हम Traffic Rules in Hindi और  Traffic Signs in Hindi जानेंगे।

Traffic Rules and Regulations क्यों जरूरी है?

Yatayat Ke Niyam

हमारे देश मे सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या दिनो दिन बढ़ती ही जा रही है। 2017 में जारी हुए एक आंकड़े के मुताबिक हमारे देश हर1 10 मिनट में 3 लोग सड़क दुर्घटना के कारण अपनी जान गवा देते हैं। इस तरह यदि पूरा दिन मिलाकर देखें तो एक दिन में एक बड़े जेट के क्रैश होने में जितनी मौते होती हैं उतनी ही मौते इस कारण होती हैं।

इतने सड़क दुर्घटनाओं के पीछे के कई कारण सामने आए, जिनमे से प्रमुख कारण, ट्रैफिक नियमो और सिग्नलों की जानकारी न होना, कानून का कड़ाई से पालन न करना और नशे की स्थिति में गाड़ी चलाना है। इसलिए हम यही कहेंगे कि Traffic Rules की सही जानकारी होना बहुत जरूरी है और हम Traffic Rules in Hindi Language में बताएंगे।

Traffic Rules in Hindi

अपनी गाड़ी को हमेशा बाएं साइड में रखें

भारत मे यदि आपको गाड़ी चलाना है तो अपनी गाड़ी को हमेशा रोड के बाएं तरफ ही रखें। फिर चाहे वह सिंगल वे रोड हो या डबल वे रोड। यदि कोई आपको ओवर टेक करना चाहता है तो उसे अपने दाहिने साइड से ओवर टेक करने दे। सभी गाड़ियों को अपनी दाहिने साइड से निकलने की जगह दे।

U टर्न लेना

यदि आप किसी रास्ते मे U टर्न लेना चाहते हैं तो सबसे पहले आप अपनी गाड़ी को धीरे करें उसके बाद अपने मिरर में यह देखे की आपके पीछे कोई आ तो नही रहा है। यदि आ रहा है और पास है तो उसे पहले निकल जाने दे उसके बाद अपनी गाड़ी से टर्न लें। अमूमन u टर्न वाला एरिया भीड़भाड़ वाले होते हैं इसलिए यहां अतिरिक्त सावधानी रखें।

ओवरटेकिंग और पासिंग

किसी भी गाड़ी को हमेशा दाहिने तरफ से ओवर टेक या पास करने देना चाहिए। यदि सामने का रोड साफ नही दिखाई दे रहा है या फिर रोड में टर्न है तो ओवर टेक नही करना चाहिए। यदि आपको कोई ओवर टेक करने की कोशिश कर रहा है तो आपको किसी और को ओवर टेक उस वक़्त नही करनी चाहिए, न ही गाड़ी की स्पीड बढ़ाना चाहिए। ओवर टेक करते वक़्त सामने वाले ड्राइवर के सिग्नल का इंतजार करना चाहिए उसके बाद हो ओवर टेक करना चाहिए।

Advertisement

इमरजेंसी व्हीकल

रोड पर चलते वक़्त इस बात का ध्यान रखें कि जो भी इमरजेंसी व्हीकल है जैसे फायर ब्रिगेड, एम्बुलेंस, डिजास्टर सर्विस ट्रांसपोर्ट इन सभी को पहले निकलने का रास्ता दें।

यदि आपके सिग्नल खराब हो गए हो तो?

यदि आपके सिग्नल सही तरह से काम नही कर रहे हैं तो आपको अपने हाथों से दूसरे ड्राइवर्स को सिग्नल देना चाहिए। ये सिग्नल आपको मुड़ते वक़्त देना चाहिए, ओवरटेक करते वक़्त देना चाहिए, स्पीड स्लो करते वक़्त देना चाहिए, और जब दूसरे को राइट साइड से ओवर टेक करने देना हो।

जब रिवर्स लेना हो।

आप जब भी गाड़ी को रिवर्स डायरेक्शन में लें तो पहले पीछे अच्छी तरह से देख लें कि वहां कोई वाहन तो नही है जिससे आपके वाहन की टक्कर न हो।

जब भी लेफ्ट या राइट टर्न लेना हो

जब भी लेफ्ट टर्न लेना हो तो सबसे पहले अपनी गाड़ी को धीरे करें और अपनी नजर लेफ्ट साइड बनाकर रखें। उसके बाद आपको अपनी गाड़ी को लेफ्ट साइड टर्न करके लेफ्ट साइड ही रहना है। फिर जब दूसरे साइड से गाड़ियां न आ रही हो तो पहले गाड़ी को बीच मे लाएं और फिर धीरे से रोड के दूसरे साइड जाएं।

Traffic Signs in Hindi- ट्रैफिक साइन

दोस्तों जिस तरह रोड पर चलते वक़्त हमे ट्रैफिक सिग्नल्स का ध्यान रखना चाहिए ठीक उसी तरह हमे Traffic Signs का भी ध्यान रखना चाहिए। हम से अधिकतर लोग रोड के किनारे बने ट्रैफिक साइन का या तो मतलब नही जानते हैं या फिर उन पर इतना ध्यान नही देते हैं, लेकिन यकीन मानिए आपका यह रवैया कभी भी आपकी या किसी और की जान का दुश्मन बन सकता है।

इसलिए ट्रैफिक सिग्नल्स ले साथ साथ ट्रैफिक साइन की भी जानकारी देने वाले हैं, जिससे कि आप रोड पर चलते वक़्त इन साइन का मतलब समझ सकें और दोबारा इन्हें इग्नोर करने की गलती न करें।

ट्रैफिक साइन मुख्यतः तीन तरह के होते हैं.

Mandatory Traffic Signs – जरूरी ट्रैफिक साइन

दोस्तों कुछ ट्रैफिक साइन के बारे में ड्राइवर को जानकारी होना बहुत जरूरी है। भारत के ट्रैफिक साइन में ऐसे साइन को बहुत जरूरी ट्रैफिक साइन में रखा जाता है। यदि कोई ड्राइवर ऐसे ट्रैफिक साइन की अनदेखी जानबूझकर या अनजाने में भी करता है तो भी उसके ऊपर दण्डात्मक कारवाही की जा सकती है।  इसके अंतर्गत Stop sign, No Entry sign, Right Turn Prohibited, One Way, Speed Limit जैसे साइन आते हैं। ये वो साइन हैं जिनके बारे में सभी को जानकारी होना चाहिए। इनकी जानकारी के बिना रोड पर चलना आपको गंभीर परेशानी में डाल सकता है।

Cautionary Traffic Signs

ये ट्रैफिक साइन ड्राइवर को आगे आने वाले खतरे या चुनौती का इशारा करते है। इन ट्रैफिक साइन को बनाया ही इसी वजह से गया है कि चलते वक़्त ड्राइवर को आगे आने वाले चुनौतियों की पहले से ही जानकारी हो जाये और वह इस चुनौती के लिए पहले से ही मानसिक रूप से तैयार हो जाए। इसके अंतर्गत , “Pedestrian Crossing”, “Narrow road ahead”, “Hair Pin Bend”, “Round About” जैसे ट्रैफिक साइन आते हैं।

Informatory Signs

इसके अंतर्गत कुछ इस तरह के ट्रैफिक साइन आते हैं जो किसी भी चीज़ की हमे जानकारी देते हैं। जैसे किसी जगह पर जाने का रास्ता कौन सा कौन सा है। कोई जगह कितनी दूर है? आगे हॉस्पिटल है या स्कूल है आदि। इन सभी चीज़ों की जानकारी देने वाले साइन Informatory Signs कहलाते हैं।

Advertisement

हमारे देश मे हर वर्ष हजारो की तादाद में लोग सड़क दुर्घटना की वजह से मारे जाते हैं। इसी वजह से वक़्त वक़्त पर ट्रैफिक के नए रूल्स, साइन आते रहते हैं और इनमें बदलाव भी होते रहते हैं,ताकि किसी भी तरह से इन घटनाओं की संख्या में कमी आये और भारत मे रोड सेफ्टी सुनिश्चित हो।

Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here