सचिन पायलट की जीवनी । Sachin pilot biography in hindi & sachin pilot family

0
242
Sachin pilot biography in hindi

सचिन पायलट ( Sachin Pilot ) जो कि कांग्रेस पार्टी के युवा नेता हैं और राजस्थान कीराजनीति में विधान सभा चुनाव 2018 में एक अलग ही भूमिका अदा की जिसका फायदाकांग्रेस पार्टी को राजस्थान में मिला हैं. पायलट को कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्षराहुल गांधी के करीबियों में से एक माना जाता है. वह अपने पिता स्वर्गीय राजेशपायलट ( rajesh pilot ) जो कि इंडियन एयरफोर्स में पायल भी रहे, बाद में उन्होंने राजनीतिमें कदम रखा और कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में शामिल रहे, उनकी की राजनैतिकविरासत को बखूबी आगे बढ़ा रहे हैं. पायलट एक बेहतर मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं जोसमय-समय पर युवाओं को जागरूक करते रहते हैं. आज यहां हम सचिन पायल की जीवनी याजीवन परिचय (Sachin pilot biography in hindi) के बारे में बात करने जा रहे हैं.

सचिन पायलट का जीवन परिचय (  Sachin pilot biography in hindi & sachin pilot family )

सचिन पायलट का जन्म (Sachin pilot Birth ) 7 सितम्बर 1977 को साहरनपुर (उ0प्र0) में राजेश और रमा पायलट के घर में हुआ था. सचिन के पिता राजेश पायलट जो कि एयरफोर्स में पायलट थे जिस कारण सचिन की शुरूआती पढ़ाई ( Sachin Pilot Education ) दिल्ली के एयरफोर्स स्कूल से हुई. इसके बाद उन्होंने सेंट स्टीफन कॉलेज से बीए की डिग्री हासिल की व गाजियाबाद के एक कॉलेज से उन्हेंने मार्केटिंग में डिप्लोमा करने के बाद सचिन ने यूएस की वॉरटन यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई पूरी की. सचिन के एक बहिन ( sachin pilot sister ) भी जिसका नाम सारिका ( sarika pilot ) हैं. सचिन पायलट ने वर्ष 200 में जम्मू-कश्मीर के अब्दुल्ला परिवार की बेटी सारा से लव मैरिज की है. सचिन के दो बेटे हैं जिनका नाम आरान और वेहान पायलट हैं.

सचिन पायलट का राजनीतिक सफर- Sachin Pilot political journey in Hindi

सचिन के पिता राजेश पायलट राजीव गांधी के बहुत अच्छे मित्र थे. उनके कहने पर ही राजेश पायलट ने राजनीति में आने के फैसला किया था. राजनीति में सक्रिय होने के बाद वह एक बहुत बड़े गुर्जर नेता ( Sachin Pilot Cast ) के रूप में उभरे. उन्होंने अपने पहले चुनाव में ही भरतपुर की महारानी को भारी बोटों से हराया था. वह 1980 से 1999 तक कई बार विधान सभा का सदस्य बने रहे इस दौरान वह ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर से इंटरनल सिक्युरिटी मिनिस्टर तक रहे. राजेश पायल की एक एक्सीडेंट में मृत्यु हो गयी थी जिसके बाद सचिन ने अपने पिता की राजनीतिक विरासत संभाल ली थी. सचिन 14वीं लोकसभा में कांग्रेस की ओर से दौसा सीट से चुनाव लड़े और वहां जीत दर्ज की, उस वक्त उनकी उम्र महज 26 वर्ष थी, भारत में सबसे कम उम्र के सांसद बनने का खिताब भी हासिंल किया.

इसके उपरांत 15वीं लोकसभा 2009 के चुनाव में वह अजमेर से सांसद चुने गये. इतना ही नहीं सचिन पहले ऐसे भारतीय केंद्रीय मंत्री हैं, जिन्होंने क्षेत्रीय सेना में अपनी सेवा दी हैं, वह 6 सितंबर 2012 को क्षेत्रीय सेना में सम्मिलित हुए.

वह राजस्थान में कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष भी 2014 में रहे हैं, जिनके कुशल निर्देशन में लोकसभा का चुनाव भी लड़ा गया जिसमें उनकी अहम भूमिका थी.

इन्हे भी पढ़ें –

दोस्तो मुझे उम्मीद है कि आपको Sachin pilot biography inhindi, sachinpilot sister, sachinpilot family, sarikapilot, rajeshpilot के बारेमें दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी.

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here