डायबिटीज के लक्षण, डायबिटीज का घरेलू उपचार, डायबिटीज क्या है

0
69
DIABETES

Symptoms of diabetes in hindi- डायबिटीज पूरी दुनिया के लिए एक बहुत ही खतरनाक बीमारी के रूप में सामने आयी है। पिछले कुछ समय से यह इस रोग से पीड़ित व्यक्तियों की संख्या में तेजी से बढोत्तरी हुई है। इसका सबसे बड़ा कारण आजकल हमारे खान-पान से जुड़ी हुई कई ऐसी आदतें हैं, जो डायबिटीज की वजह बन सकती हैं। इसके साथ यह अनुवांशिक रोग के रूप में भी जाना जाता है।

मधुमेह मुख्यतः दो प्रकार का होता है।

टाइप -1: यह बीमारी मुख्यतः 12 से 25 वर्ष से कम आयु युवाओं में मिलती है। इसमें पैन्क्रियाज की बीटा कोशिकाएं पूरी तरह से नष्ट हो जाती हैं। और इस तरह इन्सुलिन बनना बन्द हो जाता है। जनेटिक, ऑटो इम्युनिटी एवं कुछ वायरल संक्रमण के कारण बचपन में ही बीटा कोशिकाएं पूर्णतः नष्ट हो जाती हैं। ऐसे मरीजों को बिना इन्सुलिन का इंजेक्शन दिए कोई इलाज नहीं है।

टाइप – 2 – यह बीमारी मुख्यतः वयस्कों में होती है। भारत में 98 प्रतिशत डायबिटीज के रोगी टाइप-2 के शिकार हैं। इसमें शरीर के अन्दर इन्सुलिन का निर्माण तो होता है पर वह शरीर की जरूरत के अनुसार नहीं होता है। यह अनुवांशिक के साथ मोटापे के कारण भी हो सकती है।

डायबिटीज या मधुमेह के शुरूआती लक्षण-Early symptoms of diabetes or diabetes

  • इसके शुरूआती दिनों में आंखों में कमजोरी के साथ धुंधला दिखना शुरू हो सकता है।
  • बार-बार पेशाब आना
  • बार-बार प्यास लगना।
  • किसी भी प्रकार की चोट या जख्म देरी से ठीक होना।
  • कब्ज रहना।
  • बार-बार फोड़े-फुंसियां होना और त्वचा में इन्फेक्शन होना।
  • इस रोग से पीड़ित रोगी के शरीर का शुगर लेवल बढ रहा होता है इससे शरीर में थकान बढ जाती है।
  • चक्कर आना और हृदय गति अनियमित होने का खतरा।

9-अक्सर हाथ-पैर सुन्न पड़ जाना। झुनझुनी या चींटियों के काटने का अहसास हो या तेज जलन महसूस हो तो तुरंत डाक्टर को दिखायें।

10-डायबिटीज के कारण कान के अंदर की सेल्स डैमेज हो जाती है, जिसका बुरा असर सुनने की क्षमता कम हो जाना।

Read More – “अगर आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग जैसे C, CPP, या JAVA सीखना चाहते है, तो आप सभी प्रोग्रामिंग और उनके सभी समाधानों को यहाँ सीख सकते है. उदाहरण के तोर पर आप इस प्रोग्राम को चेक कर सकते है. C++ Project For Student Management System (SMS PROJECT) With Source Code. Visit to Know More About Programming:- प्रोग्रामिंगविथबासिक्स | एक प्रोग्रामिंग समाधान ब्लॉग – ProgrammingWithBasics | A Programming Solution Blog

आइये जानते हैं खाने की कौन-कौन सी आदतें डायबिटीज का खतरा बढाती हैं।

1-सुबह का नाश्ता न करने से बॉडी का इन्सुलिन लेवल बिगड़ जाता है। इससे ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करना मुश्किल हो जाता है।

2-रात में देर से खाना-खाने और तुरंत सो जाने के कारण ब्लड शुगर बैलेंस बिगडता है। इससे डायबिटीज की समस्या बढ़ सकती है।

3-खाने के बाद बैठे रहने से बॉडी में फैट बढने लगता है। यह ब्लड शुगर लेवल बढाता है। ऐसे में डायबिटीज की आशंका बढ जाती है।

4- दिन में सही समय पर खाना न खाने से मोटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है। ऐसे में वजन बढने लगता है, जिससे डायबिटीज का खतरा बढ सकता है।

5-दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी न पीने के कारण बॉडी हाइड्रेट नहीं रह पाती है। इससे ब्लड शुगर लेवल बिगड़ता है। ऐसे में डायबिटीज की आशंका बढ सकती है।

6-शुगरी ड्रिंक्स में शुगर की काफी मात्रा होती है, जो बॉडी में कैलोरी बढाती है। इसे रेग्युलर पीने से डायबिटीज की आशंका बढ सकती है।

7-खाने के तुरंत बाद मीठा खाने से बॉडी में शुगर लेवल तेजी से बढता है। इससे डायबिटीज की आशंका बढ जा सकता है।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here