Lala Lajpat Rai Quotes in hindi | लाला लाजपत राय के सुविचार ( अनमोल विचार )

0
1709
Motivational slogan of lala lajpat rai

लाला लाजपत राय जिन्हे हम पंजाब केसरी के नाम से भी जानते हैं एक ऐसे स्वतंत्रता सेनानी थे, जिन्होंने अपने जीवन में कभी भई हार नहीं मानी और जोश एवं जुनून के साथ संघर्ष करते रहे. यह भआरतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में गरम दल के तीन प्रमुख नेताओं लाल-बाल-पाल में से एक थे. आइये आज हम लाला लाज पत राय के सुविचारों के बारे में जानते हैं-

Lala Lajpat Rai Short Biography – लाला लाजपत राय का परिचय

नामलाला लाजपत राय
जन्म दिन/स्थान28 अप्रैल 1865, ढुधिके पंजाब, ब्रिटिश भारत
मृत्यु17 नबम्बर 1928 लाहोर भारत (अब पाकिस्तान में है)
संगठनभारतीय राष्ट्रीय काग्रेस, आर्य समाज, हिन्दु महासभा
आंदोलनभारतीय स्वतंत्रता आंदोलन
अन्य उपाधियांलाल-बाल-पाल की तिकड़ी में से एक, पंजाब केसरी

lala lajpat rai quotes in Hindi- लाला लाजपत राय के सुविचार

अतीत को देखते रहना व्यर्थ है, जब तक उस अतीत पर गर्व करने योग्य भविष्य के निर्णाण के लिए कार्य न किया जाए.

lala lajpat rai quotes

दूसरों पर विश्वास न रखकर स्वंय पर विश्वास रखो. आप अपने ही प्रयत्नों से सफल हो सकते हैं क्योंकि राष्ट्रों का निर्माण अपने ही बलबूते पर होता है.

great thoughts of lala lajpat rai

नेता वह है जिसका नेतृत्व प्रभावशाली हो, जो अपने अनुयायियों से सदैव आगे रहता हो, जो साहसी और निर्भीक हो.

whats slogan of lala lajpat rai

वास्तविक मुक्ति दुखों से निर्धनता से, बीमारी से, हर प्रका की अज्ञानता से और दासता से स्वतंत्रता प्राप्त करने में निहित है.

lala lajpat rai in hindi

पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ शांतिपूर्ण साधनों से उद्देश्य पूरा करने के प्रयास को ही अहिंसा कहते हैं.

lala lajpat rai slogan

पराजय और असफलता कभी-कभी विजय की और जरूरी कदम होते हैं.

lala lajpat rai quotes in hindi

सार्वजनिक जीवन में अनुशासन को बनाए रखना बहुत ही जरूरी है, वरना प्रगति के मार्ग में बाधा खड़ी हो जायेगी.

today special in india

देशभक्ति का निर्णाण न्याय और सत्य की दृढं चट्टान पर ही किया जा सकता है.

today in history india

इंसान को सत्य की उपासना करते हुए सांसारिक लाभ पाने की चिंदा किए बिना साहसी और ईमानदार होना चाहिए.

Inspirationl Quotes in Hindi

वह समाज कदापि नहीं टिक सकता जो आज की प्रतियोगिता और शिक्षा के समय में अपने सदस्यों को प्रगति का पूरा-पूरा अवसर प्रदान नहीं करता है.

Motivational slogan of lala lajpat rai

लाला लाजपत राय से जुड़े कुछ प्रश्न उत्तर

लाला लाजपत राय का जन्म कब हुआ?

लाला लाजपत राय का जन्म 28 जनवरी 1865 को दुधिके गॉव में हुआ था जो वर्तमान में पंजाब के मोगा जिले में स्थित है।

लाला लाजपत राय की मृत्यु कब और कैसे हुई?

सन् 1928 में इन्होंने साइमन कमीशन के विरुद्ध एक प्रदर्शन में हिस्सा लिया, जिसके दौरान हुए लाठी-चार्ज में ये बुरी तरह से घायल हो गये और अन्ततः 17 नवम्बर सन् 1928 को इनकी महान आत्मा ने पार्थिव देह त्याग दी।

लाला लाजपत राय का एक लोकप्रिय शीर्षक पंजाब केसरी में केसरी का क्या मतलब है?

लाला लाजपत राय जब अंग्रेजों के खिलाफ बोलते थे तो शेर की तरह दहाड़ते थे इसलिए उनको पंजाब केसरी कहा जाता था। केसरी का मतलब शेर होता है और पंजाब केसरी का मतलब पंजाब का शेर।

लाला लाजपत राय का नारा क्या था?

लाला लाजपतराय ने इसके विरोध में लाहौर में आयोजित बड़े आंदोलन का नेतृत्व किया और अंग्रेजी की हुकूमत को हिला दिला। … साइमन कमीशन का विरोध करते हुए लालाजी ने ‘अंग्रेजों वापस जाओ’ का नारा दिया और कमीशन का डटकर विरोध जताया।

लाला लाजपत राय के माता पिता का क्या नाम था?

लाला लाजपतराय के पिता का नाम मुंशी राधा कृष्ण आजाद फारसी और उर्दू के महान विद्वान थे। उनकी माता गुलाब देवी धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here