फादर्स डे पर Heart Touching Poems in Hindi

0
157
Most Beautiful Poem on Dad in Hindi

Happy Fathers Day Poems in hindi । नमस्कार दोस्तो मेरे ब्लाग पर आपका स्वागत हैं. आद हम आपके लिए कुछ बहुत ही खूबसूरत दिल को छू जाने वाली Happy Fathers Day Poems in Hindi आपके लिए लेकर आये हैं. हमारे दिलों में अपने पिता जी के लिए बहुत ही अलग जगह होती हैं और फादर्स डे वह विशेष मौका होता हैं जब हम उन्हे व्यक्त कर सकते हैं. यहां कुछ कविताओं हैं जो वास्तव में आपके दिल को छूएंगी और आपके पिता को आपके प्यार और भक्ति को व्यक्त करने में मदद करेंगी। Beautiful Happy Fathers Day Poem in Hindi from Daughter & Son, Papa par Kavita, I Love You Father Poem in Hindi Characters, हिंदी कविता for Papa, Best Happy Fathers Day Kavita for Greeting Cards, I Lost My Father Poem by Emotional Boy, Very Small Miss You Father Poetry by Alone Sad Child, Short Father Poems for Kids & Children.

Read More फादर्स डे शुभकामनां सन्देश मय फोटो के । Fathers day wishes in hindi

Happy Fathers Day Poems in hindi ।  हिंदी कविता For Papa

Mere pyaare pyare papa,
Mere dil mein rahate papa,
Meri chhotee see khushi ke liye
sab kuchh seh jaate hain papa,
pure karate har meri ichchha ,
unake jaisa nahin koi achchha,
Mammi meri jab bhi dante,
mujhe dularate mere papa,
Mere Pyare Pyare Papa !

fathers-day-poem-in-hindi

मेरे प्यारे प्यारे पापा,
मेरे दिल में रहते पापा,
मेरी छोटी सी ख़ुशी के लिए
सब कुछ सेह जाते हैं पापा,
पूरी करते हर मेरी इच्छा ,
उनके जैसा नहीं कोई अच्छा,
मम्मी मेरी जब भी डांटे,
मुझे दुलारते मेरे पापा,
मेरे प्यारे प्यारे पापा !

 Heart Touching Sad Papa Poem

जाते जाते वो अपने जाने का गम दे गये
सब बहारें ले गये रोने का मौसम दे गये

ढूंढती है निंगाह पर अब वो कही नहीं
अपने होने का वो मुझे कैसा भ्रम दे गये

मुझे मेरे पापा की सूरत याद आती है
वो तो ना रहे अपनी यादों का सितम दे गये

एक अजीब सा सन्नाटा है आज कल मेरे घर में
घर की दरो दिवार को उदासी पेहाम दे गये

बदल गयी है अब तासीर, तासीरी जिन्दगी की
तुम क्या गये आंखो में मन्जरे मातम दे गये

Read More- Fathers day shayari in hindi

jaate jaate vo apane jaane ka gam de gaye…
sab bahaaren le gaye rone ka mausam de gaye…

dhoondhatee hai ningaah par ab vo kahee nahin…
apane hone ka vo mujhe kaisa bhram de gaye…

mujhe mere paapa kee soorat yaad aatee hai…
vo to na rahe apanee yaadon ka sitam de gaye…

ek ajeeb sa sannaata hai aaj kal mere ghar mein…
ghar kee daro divaar ko udaasee pehaam de gaye…

badal gayee hai ab taaseer, taaseeree jindagee kee…
tum kya gaye aankho mein manjare maatam de gaye…

Beautiful Fathers Day Poem in Hindi Words

कभी अभिमान तो कभी स्वाभिमान है पिता
कभी धरती तो कभी आसमान है पिता
जन्म दिया है अगर माँ ने
जानेगा जिससे जग वो पहचान है पिता….”

कभी कंधे पे बिठाकर मेला दिखता है पिता
कभी बनके घोड़ा घुमाता है पिता
माँ अगर मैरों पे चलना सिखाती है
तो पैरों पे खड़ा होना सिखाता है पिता…..”

कभी रोटी तो कभी पानी है पिता
कभी बुढ़ापा तो कभी जवानी है पिता
माँ अगर है मासूम सी लोरी
तो कभी ना भूल पाऊंगा वो कहानी है पिता….”

कभी हंसी तो कभी अनुशासन है पिता
कभी मौन तो कभी भाषण है पिता
माँ अगर घर में रसोई है
तो चलता है जिससे घर वो राशन है पिता….”

कभी ख़्वाब को पूरी करने की जिम्मेदारी है पिता
कभी आंसुओं में छिपी लाचारी है पिता
माँ गर बेच सकती है जरुरत पे गहने
तो जो अपने को बेच दे वो व्यापारी है पिता….”

कभी हंसी और खुशी का मेला है पिता
कभी कितना तन्हा और अकेला है पिता
माँ तो कह देती है अपने दिल की बात
सब कुछ समेत के आसमान सा फैला है पिता….”

 

“kabhee abhimaan to kabhee svaabhimaan hai pita
kabhee dharatee to kabhee aasamaan hai pita
janm diya hai agar maan ne
jaanega jisase jag vo pahachaan hai pita….”

“kabhee kandhe pe bithaakar mela dikhata hai pita…
kabhee banake ghoda ghumaata hai pita…
maan agar mairon pe chalana sikhaatee hai…
to pairon pe khada hona sikhaata hai pita…..”

“kabhee rotee to kabhee paanee hai pita…
kabhee budhaapa to kabhee javaanee hai pita…
maan agar hai maasoom see loree…
to kabhee na bhool paoonga vo kahaanee hai pita….”

“kabhee hansee to kabhee anushaasan hai pita…
kabhee maun to kabhee bhaashan hai pita…
maan agar ghar mein rasoee hai…
to chalata hai jisase ghar vo raashan hai pita….”

“kabhee khvaab ko pooree karane kee jimmedaaree hai pita…
kabhee aansuon mein chhipee laachaaree hai pita…
maan gar bech sakatee hai jarurat pe gahane…
to jo apane ko bech de vo vyaapaaree hai pita….”

“kabhee hansee aur khushee ka mela hai pita…
kabhee kitana tanha aur akela hai pita…
maan to kah detee hai apane dil kee baat…
sab kuchh samet ke aasamaan sa phaila hai pita….”

Most Beautiful Poem on Dad in Hindi

Farz Nibhate papa Poem in hindi

पापा हर फ़र्ज़ निभाते हैं,
जीवन भर क़र्ज़ चुकाते हैं
बच्चे की एक ख़ुशी के लिए,
अपने सुख भूल ही जाते हैं

फिर क्यों ऐसे पापा के लिए,
बच्चे कुछ कर ही नहीं पाते
ऐसे सच्चे पापा को क्यों,
पापा कहने में भी सकुचाते

पापा का आशीष बनाता है,
बच्चे का जीवन सुखदाइ ,
पर बच्चे भूल ही जाते हैं ,
यह कैसी आँधी है आई

जिससे सब कुछ पाया है,
जिसने सब कुछ सिखलाया है
कोटि नम्न ऐसे पापा को,
जो हर पल साथ निभाया है

प्यारे पापा के प्यार भरे
सीने से जो लग जाते हैं
सच्च कहती हूँ विश्वास करो,
जीवन में सदा सुख पाते हैं

~Sima Sach

Beautiful-Fathers-Day-Poem-in-Hindi-Words

paapa har farz nibhaate hain,
jeevan bhar qarz chukaate hain
bachche kee ek khushee ke lie,
apane sukh bhool hee jaate hain

phir kyon aise paapa ke lie,
bachche kuchh kar hee nahin paate
aise sachche paapa ko kyon,
paapa kahane mein bhee sakuchaate

paapa ka aasheesh banaata hai,
bachche ka jeevan sukhadai ,
par bachche bhool hee jaate hain ,
yah kaisee aandhee hai aaee

jisase sab kuchh paaya hai,
jisane sab kuchh sikhalaaya hai
koti namn aise paapa ko,
jo har pal saath nibhaaya hai

pyaare paapa ke pyaar bhare’
seene se jo lag jaate hain
sachch kahatee hoon vishvaas karo,
jeevan mein sada sukh paate hain

 

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here