कॉविड वैक्सीन रजिस्ट्रेशन कैसे करें और कहां करें, सेंटर कहां-कहां है, साइड इफेक्ट और अन्य जानकारी

4
137
Covid Vaccine Registration Details In HIndi

कॉविड वैक्सीन रजिस्ट्रेशन कैसे करें और कहां करें, सेंटर कहां-कहां है, साइड इफेक्ट और अन्य जानकारी, क्या-क्या दस्तावेज चाहिए, सर्टिफिकेट कहां से डाउनलोड करें [Covid Vaccine Registration How to Register, Apps, Online, Cowin, Arogya Setu, Umang App, Documents, in Hindi]

कोरोना संक्रमण महामारी का संकट अभी भी बना हुआ है।  कोविड वैक्सीन रजिस्ट्रेशन (Covid Vaccine Registration 2021) कैसे करें? किस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन किया जाता है?  वैक्सीनेशन के लिए क्या क्या प्रक्रिया है। वैक्सीनेशन लगवाने के बाद अपना सर्टिफिकेट (Documents) किस तरह से डाउनलोड करें।  वैक्सीनेशन का सेंटर (vaccination centre) कहां  है? वैक्सीनेशन के क्या कोई साइड इफेक्ट है? वैक्सीनेशन करवाते समय किस तरह के दस्तावेज की जरूरत होती है? इन सब बातों का जिक्र इस आर्टिकल में करने जा रहे हैं। 

Covid Vaccine Registration Details In HIndi

कोरोना संक्रमण की इस महामारी से निपटने  के लिए दो तरीके हैं। सोशल डिस्टेंसिंग और सभी को वैक्सीनेशन कराना। सरकार इस काम में बहुत ही तेजी ला रही है।  45 साल से ऊपर के भारतीय नागरिकों का वैक्सीनेशन  पिछले पखवाड़े से शुरु हो चुका है, अब 18 साल (vaccination for +18) से ऊपर के नागरिकों को  कोरोना संक्रमण से बचने के लिए टीका कार्यक्रम शुरू हो गया है। 

कोविड-19  वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन कैसे करें

आरोग्य सेतु और उमंग ऐप (umang app) से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं इसके अलावा cowin.gov.in  पर विजिट करके आसानी से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं इसकी पूरी जानकारी (vaccination restoration process) नीचे दी जा रही है।

 सबसे खुशी की बात है कि कोविड-19 से लड़ने के लिए वैक्सीनेशन शुरू हो चुका है। वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन कैसे कराएं इसके लिए कई तरीके हैं हम आपको इन सभी तरीकों के बारे में बताएंगे ताकि आप रजिस्ट्रेशन सही समय पर कराकर वैक्सीनेशन करा सके और सुरक्षित रह सके।  अभी जो वैक्सीनेशन हो रहा है वह साल और 18 साल से ऊपर के व्यक्तियों के लिए वैक्सीनेशन यानी टीकाकरण काम सरकार द्वारा मुक्त किया जा रहा है। इसके लिए आपको वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होता है जो बहुत ही आसान है। Covid Vaccine Registration  प्रक्रिया के बारे में जाने।

 अगर आपने अभी तक रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो तुरंत करा लें, इसके लिए हम बता रहे हैं कि आप आप cowin.gov.in पर जाकर मुफ्त में रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। पूरा प्रोसेस नीचे दिया हुआ है-

Cowin.gov.in टीकाकरण रजिस्ट्रेशन कैसे कराएं

  •  टीकाकरण रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले  आप cowin.gov.in पर क्लिक करें या अपने मोबाइल ब्राउजर पर टाइप करके इस वेबसाइट पर पहुंचे। 
  •  इसके बाद पीली रंग की पट्टी पर Registrations/Sing in yourself  दिखाई देगा उस पर आपको क्लिक करना है।
  • नई स्क्रीन खुलेगी, जिसमें इसके बाद नई स्क्रीन खुलेगी  और उस पर लिखा होगा Registrations/Sing in for vaccinations अब आप अपना मोबाइल नंबर दर्ज कीजिए।
  • आपने जो मोबाइल नंबर दर्ज किया है, उस पर एक OTP कुछ समय में आ जाता है।
  •  आप उस ओटीपी को  एंटर कीजिए हो सकता है। ओटीपी आने में थोड़ा समय लगे इसलिए धैर्य बनाए रखें।
  • अब  पोर्टल इसमें मांगी गई समस्त जानकारी आप भरिए।
  • आपके पहचान पत्र के लिए आपके पास आधार कार्ड या पैन कार्ड या मतदाता पहचान पत्र इत्यादि सरकारी आईडी  का ऑप्शन होता है  उस पर क्लिक करें और  पहचान पत्र संख्या  सही-सही भरे। याद रखें कि पहचान पत्र में जो नाम है, वही नाम आप रजिस्ट्रेशन करते समय लिखें।
  •  जैसे आप समस्त जानकारी डाल कर सबमिट करते हैं तो आपके मोबाइल फोन पर एक मैसेज आता है। इस तरह से आप का रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाता है। आप पहचान पत्र की डिटेल उसी का दे दो पहचान पत्र टीकाकरण के दौरान ले जा सकते हैं। आधार कार्ड पैन कार्ड या मतदाता पहचान  जो आपके पास है  उसे ही दर्ज करना चाहिए  जिसे आप टीकाकरण के समय प्रस्तुत कर सकते हैं।
  •   वैक्सीनेशन रजिस्ट्रेशन के बाद टीकाकरण का दिन चुनें।
  •  टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन होने के बाद  अब नीचे लिखे गए ऑप्शन पर क्लिक करना है।    नीचे डोज 1 लिखा नजर आएगा। उसके नीचे शेड्यूल का ऑप्शन  लिखा होता है, उस पर क्लिक कीजिए।
  • इसके बाद  स्क्रीन पर शेड्यूल नाऊ  (schedule now) का विकल्प नजर आएगा। जिस पर क्लिक कर दें।
  • अब आपको यहां पर अपने एरिया का पिनकोड (postal pin) नंबर दर्ज करना है,  सर्च बटन पर क्लिक कीजिए।  आपके आसपास जो सबसे नजदीकी वैक्सीन सेंटर है, उसकी जानकारी आपके मोबाइल स्क्रीन पर उपलब्ध हो जाएगी।  टीका लगवाने का दिन आप यहां चुन सकते हैं।  टीका कहां लगवाना है,  इसका चुनाव कर सकते हैं।

Aarogya Setu ऐप से कैसे करें रजिस्ट्रेशन

  •  आप चाहे तो दूसरा तरीका Aarogya Setu ऐप से भी टीकाकरण का रजिस्ट्रेशन के लिए अपना सकते हैं।  कोरोना वैक्सीन के लिए आरोग्य सेतु एप से भी आसानी से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने मोबाइल के Aarogya Setu ऐप को ओपन करना है।
  •  इसके बाद स्क्रीन पर सबसे ऊपर चार कैटेगरी दिखाई देगी।
  •  उनमें से एक Vaccination और चौथा कैटेगरी covin  है उस पर क्लिक करने के बाद वैक्सीनेशन Login/Registration का विकल्प नजर आएगा।  इस पर क्लिक करें या तो आप सीधे वेबसाइट पर क्लिक करके मोबाइल नंबर को दर्ज कर सकते हैं।
  •  इसके बाद ओटीपी आएगा और ओटीपी दर्ज करने के बाद सभी जानकारी को भर दें और खाली स्लॉट में अपनी बुकिंग करा लीजिए।

 उमंग एप्स वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन

  • आप अपने मोबाइल फोन पर डाउनलोड किए गए उमंग एप्स  टीकाकरण  का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।  ऐप ओपन करते हैं तो  एक बैनर दिखाई देगा बैनर के अंदर क्लिक करने पर रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन आता है।  वहां क्लिक करने के बाद आपको लॉगइन/रजिस्टर पर टैप करना है।
  • अपने 10 अंकों वाले मोबाइल नंबर को  एंटर करना है।
  • मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा  जिससे आपका मोबाइल नंबर वेरीफाई हो जाएगा।
  • आपको आधार, पैन, ड्राइविंग लाइसेंस जैसे फोटो आईडी कार्ड में से किसी एक को चुनना होगा।
  •  आपका अपना नाम बर्थडे और जेंडर जैसी जरूरी डिटेल भरना है।
  • एक मोबाइल से चार लोग का वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन हो सकता है। यानी आप एक मोबाइल से नंबर से चार लोगों वैक्सीनेशन का रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • आप जैसे ही अपना पिन कोड डालेंगे, आपके सामने वैक्सीनेशन सेंटरों की लिस्ट खुल जाएगी।
  • उसमें से आप अपने अपनी पसंद का सेंटर  सेलेक्ट कर ले।
  • आपको वैक्सीनेशन की तारीख और समय की जानकारी हासिल हो जाएगी।

 कोरोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट कैसे डाउनलोड करें: Corona Vaccine Certificate

अगर आपने कोरोना वायरस टीका लगवा दिया है तो  कोरोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट (Corona Vaccine Certificate) भी आसानी से  डाउनलोड कर सकते हैं। सर्टिफिकेट डाउनलोड करने का तरीका यहां पर बताने जा रहे हैं कि (How To Download Covid Vaccination Certificate)

आपको बता दें कि कोरोना वायरस टीकाकरण  पूरा हो जाने के बाद एक वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट भी मिलता है। जिसमें इस बात का प्रमाण होता है कि आपको टीका लग गया है। आप कोरोना इस संक्रमण से आप पूरी तरह से सुरक्षित हैं।  टीकाकरण  यह दोनों डोज (खुराक) लगने के बाद  कोरोना वैक्सीन ईश्वर का सर्टिफिकेट आपके लॉगिन पर जारी हो जाता है। 

इस सर्टिफिकेट को आप  आरोग्य सेतु ऐप (Aarogya Setu app) और कोविड पोर्टल (www.cowin.gov.in) या उमंग  एप्स से इन तीनों माध्यम से  किसी एक से डाउनलोड कर सकते हैं।  हम आपको बताने वाले हैं कि आप किस तरह से करोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को कैसे आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन उससे पहले कुछ जरूरी बातें भी जान लीजिए-

कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट की जरूरत क्यों पड़ती है?

जैसा आपको मालूम है कि को भी टीकाकरण का अभियान तेजी से आगे बढ़ रहा है और कोरोनावायरस  से हमारे लड़ने की शक्ति बहुत तेजी से विकसित हो रही है। पहले चरण में 45 साल से अधिक  उम्र के  लोगों को यह टीका लगाया गया और जिसका दूसरा डोज भी लगभग सभी का कंप्लीट हो चुका है और अब दूसरा चरण 18 साल और 18 साल (18 plus age group vaccination in India) से अधिक उम्र वाले  नागरिकों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए  टीकाकरण अभियान जोर-शोर से शुरू है। वैक्सीनेशन की दोनों डोज (खुराक) लगाने के बाद करोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट  जारी होता है। 

दोस्तों आने वाले समय में इस सर्टिफिकेट को सरकारी लाभ यह स्वास्थ्य के नजरिए से आपसे मांगा जा सकता है कि आपको रोना से सुरक्षित है कि नहीं। कोरोना  वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट एक जरूरी दस्तावेज की तरह आने वाले समय में इस्तेमाल होगा।

अगर आपको किसी स्वास्थ्य संबंधी योजना या सरकारी स्कीम का फायदा उठाना होगा तो हो सकता है, आने वाले वक्त में कोरोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट के लाभार्थी से मांगा जाए।  इसलिए आप अपना वैक्सीनेशन करवाकर अपने आप को तो सुरक्षित रखते ही हैं, साथ में अपने परिवार और देश को भी सुरक्षित रखते हैं। भारत सरकार सभी नागरिकों को वैक्सीनेशन लगाने के लिए प्रतिबद्ध है।  हर व्यक्ति को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए यह वैक्सीनेशन जरूरी है और इस बात का प्रमाण (vaccination certificate in India) आपके पास होना भी जरूरी है।

करोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट  इंटरनेशनल ट्रैवल के दौरान  आपसे मांगा जा सकता है। आइए जानें कि वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट (vaccination certificate) कैसे डाउनलोड कर सकते हैं-

 आरोग्य सेतु एप से डाउनलोड करें वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

 आरोग्य सेतु एप के माध्यम से  वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट डाउनलोड करना बहुत आसान है।  आपको बता दें कि सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए बेनिफिशियरी आईडी होना जरूरी है।  जब आपने वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था तो उस समय आप को एक एसएमएस रजिस्ट्रेशन का प्राप्त हुआ था। उस s.m.s. में  एक आईडी दर्ज है है।  आरोग्य सेतु एप में वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट डाउनलोड करने के लिए आप वही मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा जिससे आपने रजिस्ट्रेशन किया था तो आइए नीचे बता दे किस तरह से आप अपना  सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं

सर्वप्रथम आप आरोप सेतु का लेटेस्ट वर्जन डाउनलोड करके इंस्टॉल करें। यदि आपने लेटेस्ट वर्जन पहले से डाउनलोड किया है तो इसको करने की आवश्यकता नहीं है।

जब आप आरो क्षेत्र ऐप खोलेंगे तो टाप बैंड में दायीं तरफ CoWIN का ऑप्‍शन नजर दिखाई देता है।  इस पर क्लिक करें।  अब आपके सामने 4 तरह के विकल्प आएंगे। इनमें से Vaccination Certificate पर क्लिक करें। नेक्स्ट स्टेप में आपसे बेनिफिशियरी आईडी पूछी जाएगी। इसे आप इंटर कीजिए। एंटर करने के बाद आप GET CERTIFICATE पर क्लिक करें।  अब यहां वेसिलेशन सर्टिफिकेट आपके स्मार्टफोन पर डाउनलोड हो जाएगा।

CoWIN वेबसाइट से सर्टिफिकेट डाउनलोड करें

कोविन पोर्टल CoWIN के जरिए भी वैक्‍सीन सर्टिफिकेट डाउनलोड  कर सकते हैं।

 अब आपको इस वेबसाइट www.cowin.gov.in पर जाना है और वहां

 Get your COVID Vaccination Certificates के  अंतर्गत दिए गए CoWIN  विकल्प पर क्लिक करना है।

अब आपको  रजिस्‍ट्रेशन पोर्टल पर रीडायरेक्‍ट किया जाएगा।

इसके बाद मोबाइल नंबर दर्ज कीजिए।  मोबाइल नंबर पर आए हुए ओटीपी को टाइप कीजिए इस तरह से लॉगिन होने के बाद आपने अपने मोबाइल नंबर से जिन लोगों का नाम  वैक्सीनेशन के लिए रजिस्टर्ड किया और वैक्सीनेशन उन्होंने लगवाया है, उनके नाम के आगे  Action का कॉलम  दिखाई देता है। यहां पर सर्टिफिकेट डाउनलोड करने का विकल्प दिखाई देता आप क्लिक करके अपना करो ना वैक्सीन का सर्टिफिकेट (DOCUMENTS) डाउनलोड कर लीजिए।  अगर आपको किसी तरह की समस्या हो रही तो हम आपको डायरेक्ट लिंक यहां पर दे रहे हैं जिसका उपयोग करके आप अपना कोरोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।  वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट पाने के लिए डायरेक्ट लिंक पर क्लिक करें।

दोस्तों यहां पर केवल बेनेफिशरी आईडी आपको डालनी होगी और सर्च का बटन क्लिक कीजिए।

डीटेल्‍स मैच करने पर आपको डाउनलोड का ऑप्‍शन  दिखाई देता है और फिर आप अपना  सर्टिफिकेट डाउनलोड कर सकते हैं।

डिजिलॉकर में कोरोना टीकाकरण का प्रमाण पत्र

 अगर आप वैक्सीनेशन का पंजीकरण कराते समय वही नंबर दिया है जिस मोबाइल नंबर से आपका  डिजिलॉकर अकाउंट है, तब वैक्‍सीनेशन सर्टिफिकेट को सिंककरा सकते हैं।  इस तरह से आपका डिजीलॉकर में करोना टीकाकरण का प्रमाण पत्र सुरक्षित रहेगा।

FAQ’s

टीकाकरण लगवाने के लिए जरूरी दस्तावेज (DOCUNENTS) कौन-कौन से हैं?

कोरोनावायरस का टीकाकरण रजिस्ट्रेशन के समय सरकारी दस्तावेज (DOCUNENTS) पहचान पत्र के रूप में इस्तेमाल किए जाएंगे। कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, वोडर आईडी कार्ड, डाइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, केंद्र/राज्य सरकार द्वारा जारी सर्विस आइडेंटिटी कार्ड (फोटो के साथ), पासपोर्ट, आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, फोटो के साथ पेंशन डॉक्यूमेंट, पोस्ट ऑफिस/बैंक द्वारा जारी पासबुक फोटो के साथ और श्रम मंत्रालय की योजना वाले हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड जरूरी होंगे।  इनमें से कोई एक दस्तावेज आपको रजिस्ट्रेशन करते समय डाक्यूमेंट्स के तौर पर दर्ज करना है और वैक्सीनेशन सेंटर पर उस डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी लेकर आना है ताकि आपके पहचान हो सके।

वैक्सीनेशन से संबंधित फ्री टोल नंबर क्या है?

कोरोनावायरस टीकाकरण से संबंधित किसी भी तरह की अधिकतम जानकारी के लिए सरकार ने एक फ्री टाल  हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, इस पर आप  बात कर सकते टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1075 भी जारी किया गया है।

वैक्सीनेशन का सेंटर कहां  है?

 टीकाकरण अभियान के लिए वैक्सीनेशन सेंटर सरकारी अस्पतालों को बनाया गया है।  आप जिस शहर में रहते उस शहर के आसपास सरकारी अस्पताल और कुछ प्राइवेट अस्पतालों को टीकाकरण के लिए भी चुना गया है।  आप रजिस्ट्रेशन करते समय टीका लगवाने  की तारीख और अपने आसपास नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर का चुनाव  टीकाकरण के लिए  कर सकते हैं। 

करोना टीकाकरण  का साइड इफेक्ट्स  क्या है?

ऐसी अफवाह उड़ाई जा रही थी कि कोरोना टीकाकरण का साइड इफेक्ट (vaccination side effects)  गंभीर है। लेकिन ऐसा नहीं है, कुछ लोगों  हल्की फुल्की परेशानी होती है लेकिन कुछ समय बाद में ठीक हो जाती है।  टीकाकरण के बाद हल्का बुखार भी हो सकता है लेकिन यह कोई गंभीर बात नहीं है। कई ऐसे लोग हैं जो करो ना का टीका लगवाने के बाद उन्हें किसी की तरह की कोई समस्या नहीं होती है तो यह सवाल उठाया जाता है कि क्या यह टीका कारगर नहीं है ऐसी कोई बात नहीं क्योंकि यह कि का तब भी कारगर है। टीकाकरण के बाद उसका साइड इफेक्ट यह है कि  शरीर का इम्यूनिटी सिस्टम थोड़ा कमजोर हो जाता है लेकिन अगले 15 दिन  के बाद इम्यूनिटी सिस्टम तेजी से बढ़ने लगता है और टीका काम करने लगता है।

 

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here