फास्टैग क्या है, कैसे काम करता है। What is Fastag and How Fastag Works in Hindi Full Details

0
5
फास्टैग क्या है, कैसे काम करता है। What is Fastag and How Fastag Works in Hindi Full Details

What is Fastag? रोड पर चलने वाले लोगों को टोल प्लाजाओं पर होने वाली असुविधा को ध्यान में रखते हे राष्ट्रीय हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इलेक्ट्रानिक टोल कलेक्शन सिस्टम प्रारम्भ किया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Fastag स्कीम हमारे देश में सबसे पहले वर्ष 2014 में प्रारम्भ की गयी थी, लेकिन प्रभावी रूप से शुरूआत इसकी वर्ष 2020 में की जा रही है। वर्तमान में देश के लगभग सभी टोल प्लाजाओं पर फास्टेग लागू किया जा रहा है।

लोगों के मन में Fastag को लेकर बहुत असमंजस्य है लोग जानना चाहते हैं कि Fastag क्या है? और यह कैसे कार्य करता है इसके बारे में आप भी विस्तार से जानना चाह रहे होंगे।

फास्टेग क्या है? What is Fastag?

FASTag एक बहुत ही आसानी से इस्तेमाल किया जाने वाला रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टैग है जो आपकी गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगेगा, जो बैंक अकाउंट या नैशनल हाइवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पेमेंट वॉलिट से लिंक होगा। इससे गाड़ी मालिकों को टोल प्लाजा से निकलते समय रुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी और पेमेंट अकाउंट से अपने आप कट जाएगा।

नैशनल हाइवेज फी नियम, 2008 के अनुसार, किसी टोल प्लाजा में FASTag लेन FASTag यूजर्स के आवागमन के लिए खासतौर पर रिजर्व है। अगर कोई गाड़ी मालिक बगैर FASTag के FASTag लेन से गुजरता है तो उसे दोगुनी फीस वसूली जाएगी।

फास्टैग कैसे कार्य करता है How Fastag Works in Hindi

Fastag में रेडियो फ्रिक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन ( आरएफआईडी ) लगा होता हैं, जिसे वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा दिया जाता है। जैसे ही आपकी गाड़ी टोल प्लाजा से गुजरती है वैसे ही टोलप्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन में लगे फास्टेग वारकोड को स्कैन कर लती है और आपके एकाउंट से पैसे कट जाते हैं और आप बिना रूके ही टैक्स का भगतान कर टोल पार कर लेते हैं.

How Fastag Works in Hindi

फास्टैग की वेलिडिटी – What is FASTag Validity

सूत्रों के मुताबिक फास्टेग की वेलिडिटी 05 वर्ष की होती है इसके बाद आपको नया फास्टैग अपना गाड़ी में लगाना होगा. देखा जाये तो यह एक वार कोड की तरह होता है यदि उसमें जिसे Tag Reader द्वारा Read किया जाता है। यदि उससे कोई छेड़खानी नहीं होती है तो वह अच्छी तरह कार्य करता रहता है और वहीं यदि उसमें स्क्रैच या कहीं फट जाता है तो टैग रीडर उसे रीड नहीं कर पाता है इसके बाद उसे आपका नया बनावाना पड़ सकता है।

फास्टैग के फायदे (Benefits of FASTag in Hindi)

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है कि इससे आपको टोल प्लाजा को लम्बी कतार में लग कर अपने कीमती समय को बर्बाद नहीं करना होगा. फास्टैग के उपयोग से आप न केवल अपना कीमती समय बल्कि पैट्रोल व डीजल की बचत भी कर सकते हैं।

आपके सभी FASTag लेनदेन के लिए आपको एसएमएस और ईमेल अलर्ट मिलेंगे. यदि आप Fastag का उपयोग करते हैं तो यहां 2.5% का कैश बैक पाकर भी फायदा उठा सकते हैं।  

FASTag की मुख्य रूप से किसे है जरूरत?

यदि आप नया वाहन खरीद रहे है या आपने अभी-अभी वाहन खरीदा है तो आपको FASTag के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है. क्योंकि अब आपको यह रजिस्ट्रेशन के समय पहले से ही उपलब्ध कराए जा रहे है. वाहन मालिक को केवल FASTag अकाउंट को सक्रिय और रिचार्ज करना होगा.

Advertisement

वहीं यदि आपके पास पुरानी कार है, तो आप उन बैंकों से FASTag खरीद सकते हैं जो सरकार के राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह (NETC) कार्यक्रम से अधिकृत हैं. इन बैंकों में सिंडिकेट बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीएफसी बैंक, एचडीएफसी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, और इक्विटास बैंक शामिल हैं. आप पेटीएम से भी FASTag खरीद सकते हैं.

कहां से लें FASTag? (How to Get Fastag in Hindi )

जैसा की आप जान गये होंगे कि वर्तमान में Fastag का उपयोग अनिवार्य कर दिया गया है तो तो कस्टूमर के मन में उसे पाने के लिए कई प्रकार के प्रश्न उठ रहे हैं.

FASTag को किसी भी प्वाइंट ऑफ सेल (POS) लोकेशन पर जाकर बैंक से Offline खरीदा जा सकता है. हालांकि, लंबी कतारों में लगने और समय बचाने के लिए इसके लिए Online Apply करना आसान है.

आपको बता दें कि FASTag आवेदन करने की प्रक्रिया विभिन्न बैंकों में थोड़ी अलग होती है. फिर भी आवेदन की मुख्य बातें सभी में समान रहती हैं.

क्या है प्रक्रिया? How to Get Fastag Online?

1. सबसे पहले FASTag प्रीपेड खाता खोलने के लिए आपको बैंक की ऑनलाइन FASTag एप्लिकेशन वेबसाइट पर जाना होगा. उसके बाद आपको वहां FASTag अकाउंट बनाना होगा.

2. यहां आपको अपनी पर्सनल इन्फॉर्मेशन जैसे नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, आदि भरना होगा.

3. केवाईसी दस्तावेज विवरण (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र, या आधार कार्ड) आदि को यहां दर्ज करें।

4. इसके बाद यहां आपको अपने वाहन पंजीकरण विवरण (जैसे वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) नंबर ) को भरना होगा.

5. इसके उपरांत आप अपने सभी आवश्यक दस्तावेजों की स्कैन कॉपी अपलोड करें. इनमें केवाईसी दस्तावेज, वाहन मालिक की 1 पासपोर्ट साइज फोटो और आरसी शामिल हैं.

आवेदक द्वारा आवेदन जमा करने के बाद आपका FASTag अकाउंट Craete हो जाएगा. आप अपने FASTag खाते को ऑनलाइन या FASTag ऐप के जरिए एक्सेस कर सकते हैं. आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/ एनईएफटी / आरटीजीएस का उपयोग करके या नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने FASTag खाते को रिचार्ज कर सकते हैं. रिचार्ज की जाने वाली अधिकतम राशि 1 लाख रुपये है.

यदि आप चाहें तो पेटीएम से भी फास्‍टैग खरीद सकते हैं। पेटीएम मॉल में इसकी सुविधा दी गयी है। आपको बैंक की ही पेटीएम पर डिटेल के साथ डॉक्‍यूमेंट की फोटो अपलोड करनी होगी। इसके एक से दो दिन के भीतर आपके घर पर ही फास्‍टैग पहुंच जाएगा। पेटीएम से परचेज के लिए क्लिक करें https://paytm.com/fastag

फास्टैग कैसे रिचार्ज करें (How to Recharge Fastag in Hindi)

  • फास्टैग को रिचार्ज करने के लिए आपको सबसे पहले यूजर आईडी और वॉलेट आईडी से पहले FASTag portal पर लॉग इन करना होगा।
  • इसके उपरांत आपको यहां ‘payment and topup’ का ऑप्शन मिलेगा।
  • इसके बाद ‘Recharge’ पर क्लिक करें और जिस वॉलेट आईडी में आप पैसे जमा करना चाहते हैं उसे सेलेक्ट करें।
  • यदि FASTag आपके बैंक खाते से पहले से जुड़ा हुआ है, तो प्रीपेड वॉलेट में अलग से पैसे जमा करने की आवश्यकता नहीं है।
  • आपको केवल यह सुनिश्चित करने की जरुरत है कि टोल भुगतान के लिए आपके FASTag जुड़े बैंक खाते में पर्याप्त पैसे हो। हालांकि, अगर आपने FASTag को प्रीपेड वॉलेट (NHAI प्रीपेड वॉलेट) से लिंक किया है, तो इसे विभिन्न माध्यमों जैसे चेक के माध्यम से या UPI, डेबिट कार्ड ,क्रेडिट कार्ड, NEFT,नेट बैंकिंग के जरिए रिचार्ज किया जा सकता है। 

फास्टैग वैलेंन्स की जानकारी कैसे करें (How to Check Fastag Balance in Hindi)

फास्टैग उपयोगकर्ता  आसानी से बैलेंस की जानकारी कर सकते हैं। एनएचएआई प्रीपेड वॉलिट से जुड़े फास्टैग उपभोक्ताओं को बैलेंस की जानकारी के लिए एनएचएआई से संबंधित कंपनी आईएचएमसीएल ने मिस्ड कॉल अलर्ट की सुविधा शुरू की है।

यदि आपने अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करवाया हुआ है तो आप अपने मोबाइल नंबर से 91-8884333331 पर मिस्ड कॉल देकर अपने NHAI प्रीपेड वॉलिट का बैलेंस प्राप्त कर सकते हैं।

यह नंबर चौबीस घंटे काम करेगा। सभी मोबाइल ऑपरेटरों के लिए यह सुविधा है। इसके लिए इंटरनेट की जरूरत नहीं है। अगर एनएचएआई प्रीपेड वॉलिट से एक से अधिक वाहन जुड़े हुए हैं, तो हर वाहन पर लगे सभी टैग्स का बैलंस आपको पता चल जाएगा।

Advertisement

अगर किसी वाहन के फास्टैग में कम बैलंस है तो रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक अलग एसएमएस भेजा जाएगा। सिर्फ एनएचएआई फास्टैग से जुड़े हुए उपभोक्ताओं के लिए ही यह सुविधा है।

फास्टैग कस्टमर केयर नंबर या हेल्पलाइन नंबर FASTag Helplibe or Customer Care Number

जैसा कि आप जानते है कि फास्टैग को कई बैंकों के माध्यम से खरीदा जा सकता है। उपयोगकर्ता फास्टैग से जुड़ी समस्याओं को लेकर इन टोल फ्री नंबर पर आप संपर्क कर सकते है:

  • आईसीआईसीआई बैंक: 1860 210 1014
  • एचडीएफसी बैंक: 1800 120 1243
  • एक्सिस बैंक: 1800 103 5577
  • एसबीआई बैंक: 1800 110 018
  • सिंडिकेट बैंक: 1800 425 0585

और अन्य बैंकों की टोल फ्री नंबर की जानकार यहां पाएं।

Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here