मेटावर्स तकनीकि क्या है। फेसबुक की नई दुनिया कैसे काम करती है

0
17
मेटावर्स क्या है और कैसे काम करता है

मेटावर्स तकनीकि क्या है। फेसबुक की नई दुनिया कैसे काम करती है। Mark Zuckerberg Facebook; What Is Metaverse Platform? And How Will It Replace The Internet?

भारतीय संस्कृति में भी कल्पना के माध्यम से ब्रह्मांड के रहस्य को आसानी से जाना गया है। दुनिया बस उसी तरफ बढ़ रही है। Metaverse अंग्रेजी शब्द का मतलब है, एक काल्पनिक दुनिया। या आभासी दुनिया, बिल्कुल डिजिटल दुनिया होगी।  Metaverse  शब्द डिजिटल दुनिया की नई तकनीक या नई दुनिया है। सवाल उठता है कि क्या मेटावर्स, वर्चुअल रियलिटी (वीआर) का ही सुधरा हुआ रूप है?

नहीं! मेटावर्स डिजिटल तकनीकी आगे की कड़ी है जो इससे कहीं अधिक बड़ी है। मेटावर्स तकनीक को विकसित करने के लिए सोशल नेटवर्किंग साइट, social media Facebook  यूरोप में  पूरी दुनिया से 10000 लोग को नौकरी पर रखने और इस पर काम करने की घोषणा की है तो आइए इस आर्टिकल के माध्यम से में मेटावर्स क्या है, what is the Metaverse in Hindi, इसके बारे में पूरी जानकारी हासिल करें।

मेटावर्स क्या हैWhat is the Metaverse in Hindi

जैसे-जैसे तकनीक आगे बढ़ती है, वैसे-वैसे डिजिटल दुनिया में बदलाव आता है। मेटावर्स  एक ऐसी तकनीक है  जो इंटरनेट की दुनिया में नई क्रांति लाने वाली है। 

मेटावर्स कॉन्सेप्ट डिजिटल दुनिया (digital world) का नया भविष्य होगा।  इस शब्द  को नील स्टीफेंस में अपने उपन्यास में पहली बार प्रयोग किया था।

 मेटावर्स तकनीकि कैसे काम करती है – Metaverse Technology

मेटावर्स टेक्नोलॉजी (Metaverse Technolog) को आसान भाषा में समझे तो यह एक ऐसा डिजिटल दुनिया होगी, जहां पर हम अपने दोस्त के साथ  एक वर्चुअल दुनिया (virtual world) में हजारों किलोमीटर दूर बैठे हुए भी घूम सकते हैं।

मेटावर्स तकनीकि कैसे काम करती है
image Source

दोस्तो! अभी तक हम लोग जब वीडियो कॉल करते हैं तो सामने वाले का चेहरा दिखाई देता लेकिन हमें एहसास रहता कि हम उससे काफी दूर है लेकिन Metaverse Technolog तकनीक  एक वर्चुअल दुनिया बनाएगा जिसमें हम दूर रहते हुए अपने किसी भी दोस्त या सगे संबंधी के साथ कुछ वर्चुअल दुनिया में कई तरह के काम कर सकते हैं जिसमें से खरीदारी करना या घूमना वीडियो गेम खेलना इत्यादि इसमें शामिल है।

मेटावर्स की दुनिया में जाने का तरीका

मेटावर्स की दुनिया में  साथ साथ घूमना खरीदारी करना और भी बहुत कुछ इस दुनिया में होगा लेकिन हमारी वास्तविक दुनिया से बिल्कुल अलग एक वर्चुअल दुनिया होगी। मेटावर्स की दुनिया में प्रवेश करने के लिए किसी कंप्यूटर की जरूरत नहीं होती है।

इस तकनीक के माध्यम से डिजिटल दुनिया में हमें जुड़ने के लिए केवल वर्चुअल वर्ल्ड में प्रवेश करना है और इसके लिए केवल  तकनीक से लैस हेडसेट (visual headset) की जरूरत होती है। आपको बता दें कि अभी यह तकनीकी डवेलप होने वाली है। 10 से 15 साल में यह दुनिया एक वर्चुअल दुनिया में जाने के लिए तैयार हो जाएगी और इस पर फेसबुक गूगल आदि कंपनियां काम करना शुरू कर दिया है।

 मेटावर्स की वर्चुअल दुनिया में क्याक्या मिलेगा

दोस्तों जब हजारों किलोमीटर दूर  बैठे हुए इंसान एक दूसरे का हाल-चाल पूछेंगे और इस वर्चुअल दुनिया (Virtual World) में प्रवेश करेंगे और साथ में घूमेंगे-फिरेंगे सिनेमा देखेंगे वीडियो गेम खेलेंगे संगीत सुनेंगे।  अब आप सोच रहे हैं कि इस तरह कैसे मुमकिन हो सकता है तो आपको बता दें कि डिजिटल तकनीक में आज यह सब मुमकिन है लेकिन  हम जब अपने कंप्यूटर या मोबाइल से किसी से जुड़ते हैं तो हमें बार-बार यह एहसास होता है कि हम  उससे दूर ही है।  Digital Techniques से  यह सब संभव है लेकिन हमें हर पल यह ऐसा होता है कि हम अपने कमरे से बैठकर ही सब कुछ कर रहे हैं लेकिन वर्चुअल दुनिया में दूरी का एहसास मिट जाएगा और एकदम वास्तविक लगेगा  पर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ इस VirtualWworld में  संगीत कार्यक्रम, सिनेमा या बाहर घूमने के लिए बेफिक्र जा सकते हैं।

Advertisement

 मेटावर्स तकनीक का लाभ  

आभासी दुनिया मेटावर्स तकनीक के बारे में लगभग आप बहुत कुछ अब जान चुके हैं आइए इस वर्चुअल दुनिया में ले जाए जहां पर आपको क्या-क्या मिलेगा यह समझना जरूरी है।  आपको यहां बता दें कि मेटाबोंस तकनीक के जरिए एक वर्चुअल दुनिया बनाने में फेसबुक, गूगल जैसी बड़ी कंपनियां जुड़ चुकी है। विशेषज्ञों से बातचीत और मीडिया रिपोर्टों के आधार पर हम आपको बताने जा रहे हैं कि 

 मेटावर्स तकनीक किस तरह से हमारे लिए काम करेगी।

Virtual world Metaverse में खरीदे जमीन

 एक ऐसी आभासी दुनिया है,  जहाँ पर आप किसी के साथ घूम सकते हैं। खरीदारी कर सकते हैं और वर्चुअल दुनिया (virtual world) की खरीददारी आपसे वास्तविक दुनिया में होम डिलीवरी कर दी जाएगी।

अगर आपको इस आभासी दुनिया में  जमीन जायदाद खरीदना  या बेचना है तो आभासी दुनिया में यह सब आप कर सकते हो।  मेटावर्स की दुनिया में digital currency cryptocurrency system होगा। 

आने वाले समय के फिल्मों का डायलॉग भी हो सकता है कि मेरे पास  मेटावर्स की दुनिया में गाड़ी है, बंगला है, बैंक बैलेंस है।

दोस्तों में मेटावर्स तकनीक की अपनी एक नई दुनिया होगी जहां पर लोग अपने पैसे को इन्वेस्ट भी करेंगे।

Metaverse world like Real world

virtual world metaverse की जो दुनिया होगी बिल्कुल रियल दुनिया की तरह होगी लेकिन वह real नहीं होगा। मान लीजिए रियल दुनिया का कोई एक शहर है तो वहां पर उस शहर में पार्क, गली, मोहल्ले, इमारत, shopping mall service centre इत्यादि होता है, उसी तरह मेटावर्स की दुनिया में भी होगा। फर्क इतना होगा कि यह सब वर्चुअल होगा लेकिन इस सब की कीमत रियल दुनिया की तरह होगी और इसे कोई अपने मर्जी से बिगाड़ नहीं सकता है।

कोरोना महामारी के कारण हम तकनीकी की दुनिया से बहुत जल्दी और तेजी से जुड़ चुके हैं। अब आगे की कड़ी में टावर की यह दुनिया है इसलिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स फेसबुक ने भविष्य का सपना पहले से देख लिया है। उस पर काम करना शुरू कर दिया है। इसमें हजारों software इंजीनियर मेटावर्स की दुनिया बनाने में जुट जायेंगे।

मेटावर्स की दुनिया में पैसे और नौकरी

Metaverse की वर्चुअल दुनिया में  लोगों के लिए प्लेटफार्म होगा, जहां सभी कुछ आभासी तो होगा लेकिन सब रियल दुनिया जैसा ही होगा।

Advertisement

आपका वहां पर बैंक बैलेंस होगा और आप वहां पर कमाई भी कर सकते हैं। वर्चुअल कोई भी काम आप कर सकते हैं जैसे उत्पादों की सेवा देना, अपने विचारों को पहुंचाना, कंपनी आदि की स्ट्रेटजी, विज्ञापन आदि तैयार करना जी तैयार करना और घूमना फिरना इत्यादि, सब कुछ बिल्कुल हमारे रियल दुनिया की तरह वहां भी होगा और इसमें लेनदेन डिजिटल पैसों के माध्यम से होगा जिसे हम रियल दुनिया में भी खर्च कर सकते हैं।

Metaverse  की दुनिया कैसै बनेगी

यह तकनीक का ऐसा सिलसिला होगा जहां पर कई तकनीकी कंपनियां इस प्लेटफार्म को बनाने में काम करेगी। दोस्तों सारा खेल नेटवर्क साझा करने का है, virtual world metaverse की दुनिया में सब कुछ डिजिटल है।

इसका  internet network  एक दूसरे कंप्यूटर से share होगा इस तरह नई दुनिया का निर्माण होगा।

याद रखिए दुनिया आभासी होगी। विशेषज्ञ बताते हैं कि आने वाले वक्त में मेटावर्स क्योंकि यहां पर पहचान बनाने वाला इंसान रियल दुनिया में भी छा जाएगा।

दोस्तों जिस तरह से रियल दुनिया में किसी भी तरह का बदलाव हम चाहकर भी नहीं कर पाते हैं, उसी तरीके से virtual world metaverse की दुनिया में भी एक ऐसी तकनीक काम करेंगी जिसमें मेटावर्स की वर्चुअल दुनिया को भी कोई अपने तरीके से बदल नहीं सकता है।

इसकी कोई पायरेसी भी नहीं कर पाएगा क्योंकि यह दुनिया होगी जहां पर अगर एक ही स्थान पर कोई चीज होगा तो वह स्थान पर वही चीज हमेशा रहेगा। जब तक कोई अथॉरिटी के द्वारा बदलाव नहीं किया जाएगा। यह सारे नेटवर्क मिलाकर एक ऐसा बड़ा नेटवर्क बनेगा जिस तरीके से सबकॉन्टिनेंट मिलकर एक दुनिया बनता है, या कई गांव मिलकर शहर बनते हैं उसी तरीके से मिटा वर्ष की दुनिया होगी जो वर्चुअल तो होगी। लेकिन भविष्य में इसका बहुत महत्व होगा क्योंकि सूचना और सेवाओं और बिजनेस के लिए यह एक बहुत बड़ा प्लेटफार्म बनने वाला है।

Metaverse Virtual World Economics

बिटकॉइन जैसी कई currency यहां पर चलेंगे जिस से आप खरीदारी कर सकते हैं।

जमीन जायदाद की खरीदारी में रजिस्ट्री और मालिकाना हक आदि इस दुनिया में भी होगा।

 मेटावर्स की वर्चुअल दुनिया (the virtual world of metaverse) में जमीन खरीदने के बाद आप वहां पर कंस्ट्रक्शन अपने तरीके से कर सकते हैं। ब्लॉकचेन आधारित  मेटावर्स के की दुनिया बनने के बाद आप virtual जमीन जायदाद आसानी से खरीद सकते हैं,  इसके लिए कुछ प्लेटफार्म होंगे जैसे- क्रिप्टोकरेंसी,  Decentraland और The Sandbox जैसे प्लेटफॉर्म। इन प्लेटफार्म की अनुमति से आप वर्चुअल दुनिया में जमीन जायदाद बिल्डिंग खरीद सकते हैं। जमीन खरीदने के बाद आप वहां कंस्ट्रक्शन वर्चुअल कर सकते हैं।

Virtual Duniya Ka Construction

 मान लीजिए कि आप जमीन का खरीदने के बाद में कंस्ट्रक्शन करते हैं। कोई व्यवसाय भी करना चाहते हैं तो आभासी मेटावर्स की इस दुनिया में व्यवसाय या मनोरंजन के लिए भी काम आप कर सकते हैं। फेसबुक ने मेटावर्स के इस विषय पर काम करना शुरू कर दिया है।

Advertisement

Roblox, Fortnite और Minecraft, गेमिंग प्लेटफॉर्म इसमें मदद करके मिटावल की दुनिया का वातावरण बनाएंगे।

METAVERSE का अपना  ecosystem and economic system होगा और यहां पर खरीदारी करना और कमाना दोनों है। ब्लॉकचेन आधारित प्लेटफार्म में आभासी संपत्ति की खरीदी जा सकती है। virtual property  लोग खरीदेंगे। अपने पैसे से यहां पर व्यवसाय भी कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी करेंसी digital currency यहां उपयोग में लाई जाएगी।

इस दुनिया में कई तरह की प्रदर्शनी सेमिनार म्यूजिक कार्यक्रम इत्यादि भी आयोजित होंगे। लोग यहां की जमीन को बेचकर या खरीद के अर्थव्यवस्था को जन्म दे पाएंगे। Decentraland में उपयोगकर्ता NFT के जरिए प्रदर्शनी लगाना या संगीत कार्यक्रम आयोजन करना या कोई इवेंट कराना आसान हो जाएगा और जहां से भी पैसा भी कमा सकते हैं।

 हैं।

मेटावर्स की दुनिया फेसबुक में – Metaverse Ki Duniya Mein Facebook

फ़ेसबुक के मार्क ज़ुकरबर्ग फेसबुक के भविष्य  के आगे की बात कर रहे हैं जो एक नई दुनिया में रखने जा रहे हैं, जिसे मेटावर्स कहते हैं। फ़ेसबुक ने अपने ‘ओकुलस हेडसेट्स’ के जरिए वर्चुअल रियलिटी की तकनीक में इन्वेस्ट किया है। अपनी प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले या तकनीकी काफी सस्ती हो गई है, जिस कारण सबसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है, इसलिए नए भविष्य में फेसबुक मेटावर्स तकनीक लाकर अपने  प्रतिद्वंद्वियों से आगे जाना चाहता है।

मेटावर्स से सम्बन्धित प्रश्न और उत्तर-

मेटावर्स का भविष्य क्या है?

 मेटावर्स का भविष्य वैसे तो उज्जवल है क्योंकि वर्चुअल नई दुनिया होगी और यहां पर हमारी वास्तु दुनिया से अलग होगा या बिल्कुल उसी तरीके से यह कह पाना मुश्किल है लेकिन आने वाले अर्थव्यवस्था और पूरी सामाजिक तरीका मेट अवस्थी virtual world के कारण बदल जाएगा।

मेटावर्स का सपना क्या साकार हो पाएगा?

मेटावर्स world की वर्तमान दुनिया बिजनेस के लिए  बड़े मौके लेकर आ रही है। इसलिए आईटी सेक्टर और बहुत सी कंपनियां इसके लिए उत्साहित है। इसलिए मेटावर्स का सपना तकनीक पर निर्भर है और इसे पूरा होने में कुछ साल का वक्त लग सकता है लेकिन यह मेटावर्स की दुनिया एक दिन इस पूरी दुनिया से अलग एक नई दुनिया होगी।

मेटावर्स की दुनिया बनने में कितना समय लग जाएगा?

Advertisement

मेटावर्स बनने में 10 से 15 साल लग जाएगा और 5 करोड डालर का निवेश इसमें फेसबुक ने किया है ।

मेटावर्स की दुनिया में बनाने में कौन सी गेम कंपनी लगी हुई है?

फोर्टनाइट गेम बनाने वाली कंपनी ‘एपिक गेम्स’ के प्रमुख टिम स्वीनी लंबे समय से मेटावर्स यह दुनिया बनाने में अपनी दिलचस्पी जाहिर की है। फोर्टनाइट कंपनी ने अपने प्रोडक्ट को डिस्टेंस वर्ड में उतारा है और कई तरह के कार्यक्रम  ब्रैंड इवेंट्स का आयोजन किया है जो कि मेटावर्स तकनीकी  की ओर एक सुनहरा कदम है।

Conclusion

इस लेख में virtual world metaverse एक आभासी दुनिया के बारे में आपने जानकारी हासिल की ।  Facebook  की नई दुनिया मेटावर्स के बारे में आपने जानकारी प्राप्त की virtual world क्यों जरूरी है, Metaverse वास्तव में वर्चुअल वर्ल्ड की दुनिया है जो आने वाले समय में एक बहुत बड़ा मार्केट बनने वाला है। यहां डिजिटल प्रॉपर्टी खरीदी जा सकती है, जैसे digital  जमीन जायदाद आदि सब डिजिटल होगा। Digital property को Cryptocurrency के जरिए खरीदा जा सकता है।  आपने जाना कि आने वाले 10 -15 सालों में Metaverse से सोशल मीडिया का स्थान ले लेगा। जहां पर सब कुछ वर्चुअल एक नया डिजिटल वर्ल्ड होगा लेकिन यह सब वास्तविक लगेगा, Gaming world की कंपनियां Metaverse विकसित करने के लिए काम कर रही है।

Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here