कौन थे लॉफिंग बुद्धा? लॉफिंग बुद्धा के उपाय

0
233
laughing-buddha-story-in-hindi

Who is Laughing Budhha – ज‌िस प्रकार से ह‌िन्दू धर्म में कुबेर को धन के देवता व वास्तु को माना जाता हैं, उसी प्राकर चीन में लाफ‌िंग बुद्धा(Laughing Buddha) को शुभ और धन समृद्ध‌ि लाने वाला व फेंगशुई माना जाता है। फेंगशुई के अनुसार घर में लॉफिंग बुद्धा की मूर्ति रखने से उन्नति आती है। यही कारण है कि आज-कल भारत में भी लोग अपने-अपने घरों व दुकानों आदि में मूर्तियां रखते हैं।

कौन थे लॉफिंग बुद्धा – Who is Laughing Budhha

महात्मा बुद्ध के दुनियाभर में अनेक शिष्य थे उन्ही में से जापान के एक बुद्ध हुए जिनका नाम होतेई था। माना जाता है कि ज्योंहि होतेई को आत्मज्ञान का वोध हुआ वह हंसने लगे और आजीवन हंसते ही रहे। इसके बाद उनके जीवन का एक मात्र उद्देश्य था लोगों को हंसाना. वह जगह-जगह जाते रहे और वहां लोगों को हंसाते रहे. उनके उपस्थित रहने पर लोगों को आनन्द का अहसास होता था. कभी-कभी लोग उनकी हंसी देखकर अचंभित हो जाते थे. इसी कारण जापान के लोग उन्हे हंसता हुआ बुद्ध जिसे अंग्रेजी में लाफिंग बुद्धा(( Laughing Buddha) ), चीनी में ‘पु ताई’ व जापान में ‘ह तेई’ कहने लगे. इन्हे ह इसके बाद धीरे-धारे उनके अनुयायी बढ़ते गये, एक देश से दूसरे और अब पूरी दुनियां में उनको करोड़ों लोग मानते हैं।

लॉफिंग बुद्धा की पहचान- सफाचट कपाल, गुब्बारे की तरह बाहर निकली हुई तोंद, चेहरे पर हरदम हँसी एवं गले पर कपड़े की पोटली, जिसमें धान की पौध एवं सोने की गिन्नियों से लेकर बच्चों हेतु मिठाई तक तरह-तरह का माल भरा रहता था। इनका मन जिस पर आ गया, उसे वे उपहारों से मालामाल कर देते थे।

जापान में ‘हँसोड़ बुद्ध’ समृद्धि एवं खुशहाली के पाँच स्थानीय देवताओं में से एक माने जाते हैं। हालाँकि मूलतः वे ताओवादी संत थे, परंतु एक हजार साल पहले बौद्ध बन चुके थे। तब बौद्ध धर्म में महायान शाखा का जोर होचला था एवं इस धर्म में अवतारों और ‘अर्हतों’ की भी परिकल्पना की जाने लगी थी। यही सारी बातें ‘पु ताइ’ से आ जुड़ीं। ‘हँसोड़ बुद्ध’ एक जनदेवता की हैसियत रखते थे लेकिन आम मनुष्य की कल्पना में उनका ऐसा जादू चला कि उनकी हैसियत के बारे में कई प्रवाद फैलाए जाने लगे।

लॉफिंग बुद्धा के उपाय –

1-लाफ‌िंग बुद्धा को घर या दफ्तर में जहां भी रखें इस बात का ध्यान रखें क‌ि उसकी ऊंचाई आपकी आंखों के बराबर तक हो। यानी लाफ‌िंग बुद्धा इस तरह हो क‌ि आते आते आपकी सीधी नजर उस पर पड़े। अध‌िक ऊंचाई या नीचे इसे नहीं रखना चाह‌िए।

2-क‌िसी भी घर में पूर्व द‌िशा को परिवार के भाग्‍य और सुख शांत‌ि का स्‍थान कहा जाता है। आप अपने घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम और तालमेल बढ़ाना चाहते हैं तो एक लाफ‌िंग बुद्धा पूर्व द‌िशा में रखें जो अपने दोनों हाथों को उठाकर हंस रहे हों।

3-फेंगशुई के न‌ियम के अनुसार लाफ‌िंग बुद्धा को अपने घर में दक्ष‌िण पूर्व द‌िशा में रखें तो इस द‌िशा की सकारात्‍मक उर्जा बढ़ जाती है जो धन और सुख को आकर्ष‌ित करती है। घर में रहने वालों की आमदनी बढ़ती है। नौकरी व्यवसाय आपके व‌िरोध‌ियों से आप परेशान हैं तो इसमें भी यह राहत द‌िलाता है।

4-ज‌िस तरह गणेश जी का मुंह दरवाजे की तरफ होना शुभ होता है उसी तरह मुख्य दरवाजे को देखता हुआ लाफ‌िंग बुद्धा धन समृद्ध‌ि को आकर्ष‌ित करने वाला माना जाता है।

5- इसे घर में ऐसे रखें कि उनका मुस्कराता हुआ चेहरा घर में आने-जाने वाले व्यक्ति को दिखता रहे।

6- यदि आपकी आमदनी अच्छी है, घर में धन का अच्छा प्रवाह रहता है किंतु आप कुछ भी संचय नहीं कर पाते तो ऐसी स्थिती में धन की पोटली लिए हुए लॉफिंग बुद्धा को घर में रखें। कुछ दिनों में ही धन की संचय होने लगेगा।

7- क्या आपको आपकी मेहनत का फल प्राप्त नहीं हो पाता? बना बनाया काम बिगड़ जाता है तो दोनों हाथों में कमण्डल उठाए हुए लाफिंग बुद्धा को घर में लें आएं।

8- स्वस्थ एवं निरोगी काया चाहते हैं तो वू-लू लिए हुए लाफिंग बुद्धा को अपने घर अवश्‍य ले आएं।

9- संतानहीन दंपति बच्चों से घिरे हुए लाफिंग बुद्धा को घर में उचित स्थान दें। जल्द ही आपके घर में बच्चे की किलकारियां गूंजेगी।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here