क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं (Cricket Mein Kitne Player Hote Hain)

1
5
क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं

क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं (Cricket Mein Kitne Player Hote Hain)– क्रिकेट को वैसे तो दुनियाभर में बहुत पसंद किया जाता है लेकिन भारत में क्रिकेट को एक धर्म की तरह पूजा जाता है। यहां आपको क्रिकेट के चाहने वाले हर घर गली, नुक्कड़ पर छोटे से लेकर बड़े मिल जायेंगे। जिन्हे क्रिकेट के बारे में बहुत जानकारी होती हैं। लेकिन फिर भी हम क्रिकेट के बारे में आपके साथ जानकारी शेयर करने जा रह हैं जैसे क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं, लाइव क्रिकेट स्कोर कैसे देखें, क्रिकेट विश्व कप का इतिहास, भारत क्रिकेट का इतिहास, क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं, दुनिया का सबसे छोटा क्रिकेट स्टेडियम आदि के बारे में नीचे शेयर करने जा रहे हैं।

क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं

दोस्तो वैसे तो कोई सा भी मैच हो हम भारतीय बहुत ही दिलचस्प तरीके से उसका आनन्द लेते हैं लेकिन यदि यह मैच भारत और पाकिस्तान के बीच हो तो फिर कहना ही क्या हैं, इस दिन लोग अपने जरूरी कामों को छोड़कर दिनभर टीवी पर चिपके रहते हैं। और ऐसे मैचों की प्रत्येक गेंद को बहुत ही दिलचस्पी के साथ देखते हैं।

भारत क्रिकेट का इतिहास- History of Indian Cricket in Hindi

भारत में क्रिकेट की उत्पत्ति कब हुई इसके बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं लेकिन यह ज्यादातर सभी जानते हैं कि 200 साल तक भारत पर अंग्रेजों का शासन रहा था इसी दौरान क्रिकेट भारत में खेला जाता था। सन 1721 में भारत में अनाधिकृत रूप से खेलना शुरू किया था जिसे आधिकारिक टेस्ट का दर्जा 1932 में मिला। जहां तक भारत के प्रथम अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट मैच की बात की जाये तो उसे इग्लैंड के विरूद्ध 25 जून से 28 जून तक लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला गया था। जिसमें भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के पहले कप्तान सीके नायडू थे।

यदि बात की जाये कि भारत ने पहला टेस्ट मैच कब जीता था तो बता दूं कि भारत ने अपना पहला टेस्ट मैच 1952 में इंग्लैण्ड के विरूद्ध चैन्नई के मैदान पर जीता था। वहीं भारतीय टीम द्वारा पहली विदेशी जीत 1970 के दशक में दर्ज की थी।

अगर बात की जाये कि भारतीय क्रिकेट में वनडे का आगमन कब हुआ तो 70 के दशक में भारतीय टीम ने वनडे क्रिकेट खेलना प्रारम्भ कर दिया था। धीरे-धीरे वनडे टीम मजबूत होती चली गयी और कपिल देव की कप्तानी में वर्ष 1983 में भारतीय टीम द्वारा इंग्लैण्ड में वर्ल्ड कप अपने नाम कर क्रिकेट में क्रांति ला दी थी।

इस प्रकार भारतीय टीम बेहद मजबूत टीम बनती गयी और कई सीरीज के साथ वर्ल्ड कप भी अपने नाम किया।

क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं (Cricket Mein Kitne Player Hote Hain)

अन्य खेलों की तरह क्रिकेट में भी कई प्रकार के नियम होते हैं जिनको ध्यान में रखकर ही क्रिकेट खेला जाता है। इन नियमों का पालन सभी देशों की टीमों को करना होता है।

क्रिकेट खेलने के लिए दो टीमों की आवश्यकता होती हैं जिसमें से एक टीम बल्लेबाजी करती हैं वहीं दूसरी टीम गेंदबाजी के साथ फील्डिंग भी करती हैं। अन्तर्राष्ट्रीय मानको के अनुसार प्रत्येक क्रिकेट टीमें 11 खिलाड़ी होते हैं और दोनों टीमों में 22 खिलाड़ी होते हैं। इसके साथ कुछ खिलाड़ी अतिरिक्त होते हैं उनका उपयोग टीम में सम्मिलित खिलाड़ी के चोटिल या अन्य कोई कारण से टीम से बाहर हो जाने पर उसके स्थान पर अतिरिक्त खिलाड़ी को टीम में सम्मिलित किया जाता है।  

क्रिकेट टीम में उपलब्ध 11 खिलाड़ियों में बल्लेबाज, गेंदबाज, फील्डर विकेट कीपर के रूप में कार्य करते हैं। गेंदबाज, फील्डर व बल्लेबाजों की संख्या कुछ इस प्रकार रहती है।

  • टेस्ट मैच में खेलने वाली टीम मुख्य रूप से 6 बल्लेबाजों से बैटिंग  एवं 5 गेंदबाज से गेंदबाजी कराती है। बल्लेबाजी करने बाला खिलाड़ी ही विकेट कीपिंग करता है।
  • यदि मैदान पर खेलना थोड़ा मुश्किल है तो कप्तान अपने विवेक से 7 बल्लेबाज और 4 गेंदबाज भी रख सकता हैं क्योंकि यहां गेंदबाजों से ज्यादा बल्लेबाजों की जरूरत होती है।
  • वहीं अगर T20 मैच की बात की जाये तो इसमें तेजी से रन बनाने होते हैं तो कप्तान यहां 7 बल्लेबाज व 4 गेंदबाजों के साथ खेलता हैं।

क्रिकेट विश्व कप का इतिहास – Cricket World Cup History in Hindi

क्रिकेट विश्व कप के इतिहास के बारे में बात की जाये तो पहला क्रिकेट विश्व कम 1975 में 7 से 21 जून तक इंग्लैण्ड में खेला गया था जिसमें आठ टीमों ने भाग लिया था इंग्लैण्ड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, श्रीलंका और ईस्ट अफ्रीका। इस विश्वकप का फाइनल मैच वेस्ट इंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था जिसमें वेस्ट इंडीज विजयी टीम रही थी।

Advertisement

वहीं दूसरा क्रिकेट वर्ल्ड कप 1979 में हुआ था जिसमें भारत के साथ आठ टीमों ने हिस्सा लिया था। इस वर्ल्ड कप का फाइनल मैच वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड के बीच खेला गया। इस मैंच में भी वेस्ट इंडीज विजयी रही थी।

इसके बाद 1983 में क्रिकेट वर्ल्ड कप मैच खेला गया था जिसमें 9 टीमों ने हिस्सा लिया था। इस विश्व कप का फाइनल मैच भारत और वेस्ट इंडीज के बीच खेला गया था जिसमें भारतीय टीम पहली बार विजयी हुई।

इसके बाद 1987 में फाइनल मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैण्ड के बीच खेला गया जिसमें ऑस्ट्रेलिया की टीम विजयी रही।

अगले विश्वकप 1992, 1996, 1999, 2003, 2007 में खेले गये।

इसके उपरांत अगला क्रिकेट विश्वकप 2011 में हुआ जिसमें फाइनल में पहुंचने वाली टीमें थी भारत और श्रीलंका जिसमें भारत विजयी टीम रही और मैन ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब युवराज ने अपने नाम किया था।

इसके उपरांत 2015 में क्रिकेट विश्वकप का फाइनल मेंच ऑस्टेलिया और न्यूज़ीलैंण्ड के बीच खेला गया था जिसमें ऑस्ट्रेलिया विजयी रहा था।

क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं – Cricket Ko Hindi Me Kya Kehte Hai 

यदि आप जानना चाहते है कि क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं तो आपको बता दूं कि क्रिकेट को हिंदी में “लंब दंड गोल पिंड धर पटक प्रतियोगिता कहते हैं। सुनने में यह हिंदी शब्द आपको बहुत अजीब जरूर लग रहा हो लेकिन क्रिकेट को हिंदी में यही करते हैं।

दुनिया का सबसे छोटा क्रिकेट स्टेडियम कौन सा है

यदि आप काफी दिनों से जानना चाह रहे है कि दुनिया का सबसे छोटा क्रिकेट स्टेडियम कौन सा है तो आप बिल्कुल सही जगह आये हैं। दोस्तो दुनिया का सबसे छोटा क्रिकेट स्टेडियम भारत के इंदौर शहर में बना हुआ है. यह स्टेडियम दुनिया का सबसे छोटा स्टेडियम है.

लाइव क्रिकेट स्कोर कैसे देखें/ क्रिकेट कार्ड

यदि आप भी क्रिकेट के शौकीन है तो स्वाभाविक है कि हर कोई उसे लाइव देखना पसंद करेगा। लेकिन क्रिकेट लाइव मैचे आप टीवी के अतिरिक्त इन्टरनेट पर Hotstar के अलावा cricbuzz.com और espncricinfo.com जैसी वेबसाइटों पर भी देख सकते हैं।

दोस्तो हमारे द्वारा क्रिकेट में कितने खिलाड़ी होते हैं, लाइव क्रिकेट स्कोर कैसे देखें, क्रिकेट विश्व कप का इतिहास, भारत क्रिकेट का इतिहास, क्रिकेट को हिंदी में क्या कहते हैं, दुनिया का सबसे छोटा क्रिकेट स्टेडियम आदि के बारे में ऊपर शेयर की गयी जानकारी अच्छी लगी होगी। यदि आपके मन में भी कुछ सवाल है तो हमारे साथ कमेंट करके जरूर शेयर करें।

Advertisement
Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here