बाल दिवस पर भाषण एवं निबंध – Children’s Day Speech and Essay in Hindi

बाल दिवस पर भाषण, निबंध, महत्व, इतिहास - Children's Day Speech in Hindi

0
539
Children's Day Speech in Hindi

Children’s Day Speech in Hindi -बाल दिवस पर भाषण, निबंध, महत्व, इतिहास : प्रत्येक वर्ष बाल दिवस (Children’s Day ) 14 नवंबर (14 November) को बहुत ही उल्लास के साथ मनाया जाता है। बाल दिवस मुख्यतः बच्चों के शिक्षा एवं अधिकार के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए मनाया जाता हैं।

आपको बता दें कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती (Jawahar Lal Nehru Jayanti )  के दिन ही बाल दिवस मनाया जाता है। चूंकि पंडित नेहरू बच्चों से बहुत प्यार करते थे। वह बच्चों से बहुत लगाव रखते थे और उनके अधिकार, शिक्षा और देखभाल के बारे में बहुत सोचते थे एवं जागरूक करने का काम करते थे यही कारण रहा कि उनके जन्मदिवस को ही बाल दिवस (Children’s Day) मनाया जाने लगा। बच्चे जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) को चाचा नहेरू कहकर बुलाते थे। नेहरू जी का मानना था कि बच्चे देश का भविष्य हैं इसलिए उन्हे प्यार करना व उनकी देखभाल करना बहुत जरूरी हैं।

बाल दिवस के दिन स्कूलों आदि में रंगारंग कार्यक्रम होते हैं व बच्चों को गिफ्ट आदि भी दिये जाते हैं। इस दिन स्कूलों में विभिन्न प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाता है। बाल दिवस पर भाषण व निबन्ध (Children’s Day Speech & Essay) आदि प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाता है।

इसे भी पढ़ें- बाल दिवस की शुभकामनाएं | Happy Children’s Day Quotes in Hindi 2022

बाल दिवस का महत्व / Importance of Children’s Day

आपके दिल में यह ख्याल जरूर आता होगा कि आखिर बाल दिवस क्यों मनाया जाता है? (Why Do We Celebrate Children’s Day)  तो बाल दिवस पर विशेष पर यदि बाल दिवस के महत्व के बारे में बात की जाये तो यह दिन बच्चों के लिए बहुत ही उत्साह का दिन होता हैं. बच्चों कई दिनों से बाल बाल दिवस के जश्न (Children’s Day Celebration) की तैयारियां करने लगते हैं. इस दिन बच्चे अच्छे से तैयार होकर स्कूल जाते हैं एवं बाल दिवस के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में भाग लेते हैं। स्कूल में विभिन्न प्रकार की निबन्ध, कविता प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जाता हैं.

बच्चे किसी भी देश का भविष्य होते हैं इसलिये बच्चों की शिक्षा और उनके रहन सहन के स्तर को ऊंचा रखने के लिए व लोगों को जागरूक करने के लिए बाल दिवस को सम्पूर्ण देश में मनाया जाता हैं।

इसे भी पढ़ें- बाल दिवस पर कविताएं | Bal Diwas Poem in Hindi

बाल दिवस का इतिहास ( Children’s Day History In Hindi)

बाल दिवस को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जाता। सबसे पहले बाल दिवस मनाने का प्रस्ताव श्री वी कृष्णन मेनन द्वारा दिया गया था इसके उपरांत पहली बार बाल दिवस अक्टूबर महीने में मनाया गया। इसके उपरांत संयुक्त महासभा द्वारा 20 नवम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय बाल दिवस की घोषणा की गयी।

भारत में बाल दिवस कब मनाया जाता है? , When Is Children’s Day in India

बाल दिवस को भारत में जैसा कि मैने ऊपर बताया कि प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की जयंती (Jawahar Lal Nehru Jayanti ) के दिन यानि 14 नवंबर ( Children’s Day Date) को मनाया जाता है।

बाल दिवस पर भाषण / Children’s Day Speech in Hindi

बाल दिवस पर भाषण

आदरणीय शिक्षको और मेरे प्यारे साथियों को शुप्रभात,

आज बाल दिवस है और में आप सभी को इस दिन की शुभकामनाएं देता हूं/ देती हूं। हम सभी आज यहां बाल दिवस मनाने के लिए एकत्र हुए है. चाचा नेहरू की जयंती के मौके पर हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। आज का दिन बेहद खास है. बच्चे घर और समाज में खुशी का कारण होने के साथ ही देश का भविष्य भी होते है.

जवाहर लाल नेहरू हमेशा बच्चों के बीच में घिरे रहना पसंद करते थे। पंडित नेहरू बहुत ही प्रेरणादायक और प्रेरित प्रकृति के थे. वह हमेशा बच्चों को कठिन परिश्रम और बहादुरी के कार्य करने के लिए प्रेरित करते थे. बच्चों के प्रति उनके प्रेम के कारण बच्चे उन्हे चाचा नेहरू कहते थे. 1964 में उनकी मृत्यु के बाद से उनका जन्मदिन पूरे भारत में बाल दिवस केरूप में मनाया जाने लगा। बाल दिवस उत्सव का आयोजन देश के भविष्य के निर्माण में बच्चों के महत्व को बताता है। बच्चे राष्ट्र की बहुमूल्य सम्पत्ति होने के साथ ही भविष्य और कल की उम्मीद है।

इसलिए उन्हे उचित देखरेख और प्यार मिलना चाहिए. हमाारे देश मे अभी भी काफी सारे बच्चे बाल मजदूरी में फंसे है और कुछ लोग अपने थोड़े से लाभ के लिए उनका शोषण कर रहे है. वास्तव में बाल दिवस का अर्थ पूर्ण रूप से तब तक सार्थक नहीं हो सकता, जब तक हमारे देश में हर बच्चे को उसके मौलिक बाल अधिकारों की प्राप्ति ना हो जाए. भले ही बच्चों के भलाई और बाल अधिकारों के लिए सरकार द्वारा कई सारी योजनाएं क्यों ना चलायी जा रही हों पर उन तक उनका लाभ नहीं पहुंच पा रहा है, ऐसे में बाल दिवस के अवसर पर हम सब को मिलकर बार अधिकारों के प्रति जागरूकता फैलानी चाहिए.

मैं आपको अपने भाषण को सुनने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं और इसी के साथ एक कविता पढ़कर अपना वाणी को विराम देना चाहता हूं/ चाहती हूं।

इसे भी पढ़ें- बाल दिवस पर कविताएं | Bal Diwas Poem in Hindi

प्यारे बच्चों, मेरे द्वारा ऊपर बाल दिवस पर भाषण, निबंध, महत्व, इतिहास – Children’s Day Speech in Hindi के बारे में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी, आप इस भाषण का उपयोग अपने स्कूल में बाल दिवस पर भाषण देेते समय कर सकते है. धन्यवाद

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here