NSE और BSE क्या है? एनएसई और बीएसई के बीच अंतर क्या है?

0
7
NSE और BSE क्या है एनएसई और बीएसई के बीच अंतर क्या है

हमारे देश भारत में दो स्टॉक एक्सचेंज है, जिनका नाम एनएससी (NSE) और बीएससी (BSE) हैं। इस आर्टिकल मे जानेंगे कि एनएसई और बीएसई स्टॉक एक्सचेंज क्या है और इनमें क्या अंतर है? पूरी जानकारी के लिए अर्टिकल पढ़िए— what is NSE and BSE in Hindi

स्टॉक एक्सचेंज बजार है जहां पर शेयर्स को इन्वेस्टर्स खरीदते और बेचते हैंं। इसमें लाभ भी होता है और घाटा भी होता है। एनएससी (NSE) और बीएससी (BSE) स्टॉक एक्सचेंज को जानने से पहले आपको जानना होगा कि स्टॉक मार्केट क्या है?

NSE  और BSE क्या है एनएसई और बीएसई के बीच अंतर क्या है

स्टॉक मार्केट (STOCK MARKET)

जब आप किसी मार्केट में अपनी जरूरत की सामान खरीदते है तो आप खरीदनेवाले है तो और दूसीर तरफ आपना सामान बेचने वाला दूकानदार होता है। जब कोई सामाना दूकानदार से खरीदता है तो दूकानदार को लाभ होता है। ​बिलकुल इसी तरह से शेयर बाजार में भी सेलर (SELLERS) और बॉयर्स (BUYERS) शेयर्स को खरीदते और बेचते हैं। जहां पर स्टॉक को खरीदा व बेचा जाता है तो उस स्थान को स्टॉक मार्केट कहते हैं। (STOCKS), बॉन्ड्स (BONDS) और दूसरी सिक्योरिटिज़ (OTHER SECURITIES) पर इनवेस्टर खरीदते हैं औा बेचते हैं। इसी पूरा एक्सचेंज मार्केट चलता है। ये ट्रेडिंग हर रोज होती है। अब आनलाइन माध्यम से स्टॉक एक्सचेंज में कोई डिमेट खाते के जरिए ट्रेडिंक कर सकता है। 

इसे भी पढ़ें- स्टॉक्स क्या होते है?

BSE और NSE के बारे में जाने

भारत में नेश्लनल स्टॉक एक्सचेंज दो हैं— बीएससी (BSE – BOMBAY STOCK EXCHANGE) और एनएससी (NSE- NATIONAL STOCK EXCHANGE) है। इसी से शेयर मार्केटिंग के लिए ट्रेडिंग की जाती है।

बीएससी (BSE – BOMBAY STOCK EXCHANGE)

 दोस्तों BOMBAY STOCK EXCHANGE की स्थापना सबसे पहले हुई थी। इसकी शुरुआत 1857 में हुआ था। इस तरह से ये भारत पहला सबसे पुराना एवं बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है।  अपने स्थापना के समय इसका नाम बीएससी (BSE) ‘द नेटिव शेयर एंड स्टॉक ब्रोकर्स असोसिएश (THE NATIVE SHARE & STOCK BROKERS ASSOCIATION) था। भारत सरकार ने इसके पुराने नाम को 1957 में बदलकर  बीएससी को भारत के स्टॉक एक्सचेंज की मान्यता दी। तो तब से लेकर अब तक ये लगातार बीएससी स्टॉक एक्सचेंज के रूप में काम कर रहा है। इससे पांच हजार से अधिक कंपनियां ​रजिस्टर्ड है जो कंपनियों के शेयर को हरदिन ड्रेड करते हैं। हर दिन इसकी ग्रोथ बढ़ती जा रही है।

एनएससी (NSE- NATIONAL STOCK EXCHANGE)

NATIONAL STOCK EXCHANGE पर 1600 से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड इनसे प्रतिदिन हजारों इनवेस्टर शेयरर्स खरीदते बेचते हैं। NSE को भारत का दूसरा स्टॉक एक्सचेंज है। दोस्तो इस एक्सेंज को 1992 में स्थापित किया गया था। तब ये  एनएससी, सिक्योरिटी कॉन्ट्रैक्ट एक्ट, 1956 (SECURITIES CONTRACT ACT, 1956) के अंतर्गत टैक्स पेयिंग कंपनी (TAX PAYING COMPANY) हैसियत से काम करती थी। फिर 1993 से एनएससी ने स्टॉक एक्सचेंज रूप में काम करना आरंभ किया।

एनएससी (NSE) आने से ये लाभ हुए

पहले शेयर मार्केट का काम कागज पर होता था लेकिन एनएससी (NSE) के आने से भारतीय शेयर बाजार में इलैक्टॉनिक एक्सचेंज सिस्टम की पहली बार शुरुआत हुई। इस कारण से इनवेस्टर को शेयर खरीदना आसान हो गया है।

बेईमानी की संभावना खत्म हो गई क्योकि एनएससी ने शेयर बाजार को ऑटोमेटेड बनाया और इसी वजह से बाजार में काफी पारदर्शिता (TRANSPARENCY) आई।

स्टॉक एक्सेंज BSE और NSE में अंतर

 BSE स्टॉक एक्सेंजNSE स्टॉक एक्सेंज
परिचयबीएससी (BSE) एशिया का पहला स्टॉक एक्सचेंज ही यह दुनिया का 12वा बड़ा स्टॉक एक्सचेंज के कारण विश्वसनीय है। NSE भारत का दूसरा स्टॉक एक्सचेंज है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज जिसने देश में एक प्रभावशाली इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम की शुरूआत की।
स्थापना वर्ष1875   1992
बेंचमार्क इंडेक्ससेंसेक्सनिफ्टी
 दुनिया में रैंकिंग10वीं11वीं

पूछे जाने वाले सवाल (FAQ’s)

नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज क्या है?

एनएसई भारत का दूसरा बड़ा स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनएसई) है। इसकी स्थापना  1992 में हुई। इसके आने से शेयर मार्केटिंग इलेक्ट्रानिक तरीके से व्यापार करने वाला स्टॉक एक्सचेंज बन गया। आज यह एक्सचेंज बड़े कर्ज, इक्विटी और डेरिवेटिव मार्केट में वितीय काम करता है।  इसका पापुलर बेंचमार्क निफ्टी 50 इंडेक्स है। ये भारतीय बाजार में सबसे बड़ा इक्विटी मार्केट है।

Advertisement

भारत में कुल कितने स्टॉक एक्सेंज हैं?

इस समय भारत में कुल 23 स्टॉक एक्सचेंज हैं ज​बकि पहले स्टॉक एक्सचेंज की संख्याा 24 थी। सेबी द्वारा मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज की सूची निम्नलिखित है-

            स्टॉक एक्सचेंज

1.         मुंबई स्टॉक एक्सचेंज मुंबई

2.         over-the-counter एक्सचेंज मुंबई

3.         नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मुंबई

4.         उत्तर प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज कानपुर

5.         मेरठ स्टॉक एक्सचेंज मेरठ

6.         वडोदरा स्टॉक एक्सचेंज वडोदरा

7.         अहमदाबाद स्टॉक एक्सचेंज, अहमदाबाद

8.         बेंगलुरु स्टॉक एक्सचेंज बेंगलुरु

Advertisement

9.         भुवनेश्वर स्टॉक एक्सचेंज भुवनेश्वर

10.       कोचीन स्टॉक एक्सचेंज कोची

11.       कोलकाता स्टॉक एक्सचेंज कोलकाता

12.       गुवाहाटी स्टॉक एक्सचेंज गुवाहाटी

13.       दिल्ली स्टॉक एक्सचेंज दिल्ली

14.       कोयंबतूर स्टॉक एक्सचेंज कोयंबटूर

15.       हैदराबाद स्टॉक एक्सचेंज हैदराबाद

16.       जयपुर स्टॉक एक्सचेंज जयपुर

17.       लुधियाना स्टॉक एक्सचेंज लुधियाना

18.       कैमरा स्टॉक एक्सचेंज बैंगलोर

Advertisement

19.       चेन्नई स्टॉक एक्सचेंज चेन्नई

20.       पुणे स्टॉक एक्सचेंज पुणे

21.       मगध स्टॉक एक्सचेंज पटना

22.       मध्य प्रदेश स्टॉक एक्सचेंज इंदौर

23.       कैपिटल स्टॉक एक्सचेंज केरल लिमिटेड तिरुवंतपुरम केरल

एनएससी (NSE) और बीएससी (BSE) में कौन सबसे अच्छा है?

दोनों एक्सचेंज अपनी अपनी जगह सही है। एनएससी (NSE) और बीएससी (BSE) में कौन सबसे अच्छा है, इस सवाल के जवाब में का एंजेल ब्रोकिंग की सलाह लेना ज्यादा सही है, उनका कहना है कि अगर आप अभी शेयर मार्केट में नए है तो आपके लिए बीएसई स्टॉक एक्सचेंज में पैसा लगाना ज्यादा समझदारी भरा है। दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट के जानकार हैं तो आपके लिए तो आपके लिए  बीएसई स्टॉक एक्सचेंज पैसा लगाना आपके लिए ठीक रहेगा।

इसके अलावा अगर आप ट्रेडिंग करते हैं या डेरिवेटिव्स, फ्यूचर, ऑप्शंस में अपना धन लगाना चाहते हैं तो एनएसई सर्वोत्तम विकल्प है। क्योंकि एनएसई के सॉफ्टवेयर अच्छा काम करते हैं। अधिक धनराशि भी आप आसानी से इसमें ट्रान्जेक्शन कर सकते हैं।

इसके अलावा दोस्तों अगर आप बैठकर लम्बे समय के लिए पैसा लगान चाहते हैं तो आपके लिए  बीएससी (BSE) सही है।

नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज कब शुरु हुआ?

इसकी शुरुआत 1992 में हुआ। यह भरत का सबसे बड़ा फाइनेंशियल मार्केट एनएसई नेशनल स्टॉक एक्सचेंज है। भारतीय शेयर बाजार में ट्रांसपेरेंसी पारदर्शिता लाकर इसने भरोसा जीता है।

Sensex शब्द की हिंदी क्या होती है?

Sensex in Hindi ‘Sensex’ शब्द का प्रयोग दीपक मोहिनी द्वारा किया गया था। यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ है।  पहला शब्द  ‘sensitive’ दूसरा ‘index’  2 शब्दों को मिलाकर ‘Sensex’ शब्द अंग्रेजी में बनाया गया है। इसका हिंदी में सही अर्थ  संवेदी सूचकांक  होता है।

Advertisement

निफ्टी क्या है: (NIFTY in Hindi)

National Stock Exchange Nifty यह नेशनल और फिफ्टी दो शब्दों से जोड़कर बनाया गया है। इसमें 50 प्रमुख शेयर सूचकांक जोड़ा गया है जो अलग-अलग 50 प्रमुख कंपनियों के हैं। इसलिए इसे NIFTY कहा जाता है।  एनएससी का बेंचमार्क इंडेक्स निफ्टी कहलाता है।

निष्कर्ष (In Conclusion)

फ्रैंड्स ऊपर हमने एनएसई (NSE) और बीएसई (BSE) के बारे में जानकारी दी गई है| मुझे उम्मीद है की NSE और BSE से सम्बन्धित इस आर्टिकल से आपको काफी कुछ सीखने को मिला होगा और आपके मन में चल रहे कई सवालों के जवाब मिल गये होंगे।

हमें नीचे Comment करके जरुर बतायें कि आप कौनसे स्टॉक एक्सचेंज के साथ अपने इन्वेस्टमेंट की शुरुवात करने वाले है और क्यों| धन्यवाद

Advertisement

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

साधना अजबगजबजानकारी की एडिटर और Owner हूं। मैं हिंदी भाषा में रूचि रखती हूं। मैं अजब गजब जानकारी के लिए बहुत से विषयों पर लिखती हूं | मुझे ज्यादा SEO के बारे में जानकारी तो नहीं थी लेकिन फिर भी मैने हार नहीं मानी और आज मेरा ब्लॉग अच्छे से काम कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here