उत्तर प्रदेश दिवस कब और कैसे मनाया जायेगा, इसका इतिहास और महत्व

0
1373
Uttar Pradesh Diwas

सम्पूर्ण भारत में कई राज्य हैं जो किसी विशेष दिन पर अपने राज्य का स्थापना दिवस दिवस मनाते हैं जैसे राजस्थान स्थापना दिवस, मध्य प्रदेश स्थापना दिवस , बिहार स्थापना दिवस आदि, इन्ही राज्यों की तर्ज पर अब उ0प्र0 सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि इस साल-2018 से उ0प्र0 स्थापना दिवस उत्साह  के साथ मनाया जायेगा. यह दिन विशेष इसलिए भी होता है कि उस राज्य के नागरिक वहां की संस्कृति और परम्परा के बारे में विस्तार से जानने के अलावा आगामी योजनाओं को भी इस दिन जानने का अवसर मिलता है. उ0प्र0 स्थापना दिवस आयोजित की जाने की जिम्मेदारी इस बार सूचना विभाग, संस्कृति विभाग और पर्यटन विभाग को दी गयी है.

उत्तर प्रदेश दिवस कब मनाया जायेगा- Uttar Pradesh Diwas 2018 Dates

नवनिर्वाचित उ0प्र0 की योगी सरकार द्वारा कई अहम फैसले लिए गये हैं जिसमें अयोध्या में दीपावली मनाना, श्री रामचन्द्र जी की प्रतिमा को स्थापित कराना आदि, इसी कड़ी में एक फैसला यह भी लिय गया हैं कि प्रत्येक वर्ष की 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस के रूप में मनाया जायेगा.

आखिर 24 जनवरी को ही क्यों उ0प्र0 स्थापना दिवस मनाया जायेगा-

उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस को प्रत्येक साल 24 जनवरी को मनाये जाने के पीछे सबसे बड़ा कारण है कि यह दिन एक विशेष दिन होगा, जो उ0प्र0 राज्य को समर्पित होगा. इसके साथ ही एक कारण यह भी है कि 24 जनवरी 1950 से पहले उत्तर प्रदेश को यूनाइटेड व्राविंस के नाम से पहचाना जाता था, इस दिन ही उ0प्र0 को उसका नाम मिला था. यह वह दिन था जब उत्तर प्रदेश को अपना नाम मिला था.

उत्तर प्रदेश दिवस का इतिहास- Histroy of UP Diwas

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि 24 जनवरी सन 1989 से महाराष्ट्र में रह रहे उत्तर भारतीय लोग प्रत्येक वर्ष उ0प्र0 स्थापना दिवस मनाते हैं, जिसको लेकर काफी विवाद भी हुआ था, राज ठाकरे के महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने विरोध जताया था. इस आयोजन के पीछे अमरजीत मिश्र का पूरा प्रयास था कि इसे उ0प्र0 में भी प्रत्येक वर्ष मनाया जाये लेकिन सफलता हासिल नहीं हुई. इसके पश्चात जब उ0प्र0 के राज्यपाल राम नाइक बने तो फिर से अमरजीत ने राज्यपाल के सामने इस प्रस्ताव को रखा, जिस पर राज्यपाल ने निर्णय लेते हुए तत्कालीन समाजवादी सरकार के पास प्रस्ताव भेजा लेकिन किसी कारणवश वह सफल नहीं हो सका, जिसके उपरांत राज्य में योगी सरकार आने पर फिर से राज्यपाल रामनाईक द्वारा प्रस्ताव भेजा, जिसके पश्चात योगी सरकार द्वारा प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए प्रत्येक वर्ष उत्तर प्रदेश दिवस मनाने का निर्णय लिया गया.

कैसे मनाया जायेगा उ0प्र0 दिवस –

इस साल उत्तर प्रदेश दिवस को पहली वार मनाया जायेगा इस कारण यह दिन और भी खास हो गया है, इस मौके पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा जिसमें उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्य अतिथि होंगे इसके अलावा राज्यपाल का अहम किरदार होने के कारण कार्यक्रम के दौरान उनकी भी अहम भूमिका होगी. इसके अलावा राज्य व केन्द्र के अन्य मंत्री व अधिकारी भी सम्मिलित होंगे. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी इस दिवस को मनाया जायेगा. इस मौके पर राज्य के लोगों को यहां कि सांस्कृतिक धरोहर से पहचान कराने का भी प्रयास किया जायेगा, इसके साथ ही युवा वर्ग को विकास में शामिल किये जाने का प्रयत्न किया जायेगा.

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here