X
    Categories: EidIslam

Two Line Shayari On Eid | 2 Line Eid Mubarak Shayari

Advertisement
Advertisement

Two Line Shayari On Eid | 2 Line Eid Mubarak Shayari | 2 Line Eid Shayari In Hindi |  Eid Mubarak 2 Line Shayari

Read MOre- Eid Mubarak Status

बादल से बादल मिलते है तो बारिश होती है
दोस्त से दोस्त मिलते है तो ईद होती है

देखा ईद का चाँद तो मांगी ये दुआ रब से
देदे तेरा साथ ईद का तोहफा समझ कर

Read MoreHappy eid Mubarak shayari 2018

गरीब माँ अपने बच्चों को बड़े प्यार से यूँ मनाती है
फिर बना लेंगे नए कपडे यह ईद तो हर साल आती है

Advertisement

बाकी दिनों का हिसाब रहने दो
ये बताओं ईद पे तो मिलने आओगे ना

कोई कह दे उनसे जाकर की छत पे ना जाए
बेवजह शहर में ईद की तारीख बदल जाएगी

Advertisement

ना हाथ दिया, न गले मिले, ना कुछ बात हुई
अब तुम ही बताओ ऐ साजन ये क़यामत हुई के ईद हुई

वैसे तो न हीं मिलते, चलो कर ले बहाना
सीने से लग के मेरे कहो ईद मुबारक

यूं तेरी चाहते संभाली हैं
जैसे ईदी हो मेरे बचपन की

Two Line Shayari On Eid | 2 Line Eid Mubarak Shayari | 2 Line Eid Shayari In Hindi |  Eid Mubarak 2 Line Shayari

साहिब-ए-अक़ल हो आप, एक मसला तो बताओं
मैंने रुख-ए-यार नहीं देखा क्या मेरी ईद हो गई ??

ना किसी का दीदार हुआ, ना किसी के गले मिले
कैसी खामोश ईद थी, जो आई और चली गई

मासूम से अरमानो की मासूम सी दुनिया
जो कर गए बर्बाद उन्हें ईद मुबारक

तुझे मेरी ना मुझे तेरी खबर जाएगी
ईद अब के बार दबे पाँव गुजर जाएगी

Advertisement

बता कौनसे मौसम में उम्मीद-ए-वफ़ा रखे
तुझ को जो ईद के दिन भी हम याद नहीं आये

हमने तुम्हें देखा ही नहीं तो क्या ईद मनाएं
जिस ने तुम्हें देखा उसे ईद मुबारक

मेरी तमन्ना तो ना थी तेरे बगैर ईद मनाने की
मगर, मजबूर को मजबूरियां, मजबूर कर देती है

Two Line Shayari On Eid | 2 Line Eid Mubarak Shayari | 2 Line Eid Shayari In Hindi |  Eid Mubarak 2 Line Shayari

तुझसे बिछड़े तो अब होश नहीं
कब चाँद हुआ कब ईद हुई

चाँद निकला तो मैं लोगों से लिपट लिपट कर रोया
ग़म के आंसू थे जो खुशियों के बहाने निकले

तुझे याद करते है तो ईद मना लेते है
हम ने अपने लिए त्यौहार अलग रखा है

तेरे कहने पे लगायी है यह मेहँदी मैंने
ईद पर अब न तू आया तो क़यामत होगी

कितनी मुश्किलों से फलक पर नज़र आता है
ईद के चाँद का अंदाज़ तुम्हारे जैसा है

Advertisement

इतने मजबूर थे ईद के रोज़ तक़दीर से हम
रो पड़े मिलके गले आपकी तस्वीर से हम

उधर से चाँद तुम देखो, इधर से चाँद हम देखे
निगाहें इस तरह टकराएं की दो दिलों की ईद हो जाएँ

Tags: eid mubarak images hd,  eid mubarak images for facebook, eid mubarak images 2018, eid mubarak photo gallery, eid mubarak images 2018, beautiful images of eid mubarak, eid mubarak images free download, eid mubarak hd images free download, Eid Mubarak 2 Line Shayari

Advertisement
Sadhana Pal: मेरा नाम साधना पाल है , मुझे देश और दुनिया के बारे में लिखना और पढ़ना अच्छा लगता हैंं. और हमेशा नया सीखने की कोशिश करती रहती हूं.
Advertisement