रोहिंग्या ने किया बड़ा खुलासा, लड़कियों के साथ जुमे के रोज होता था..

0
518
source
source

म्यांमार में हुए एक भीषण घमाशान के बाद रोहिंग्या मुश्लिमों को उस बक्त अपना देश छोड़ कर भारत में सरण लेनी पडी। हिन्दुस्तान में आने के बाद उनके ऊपर अलग तरह से बिरोध प्रकट होने सुरु हो गए। और फिर इन रोहिंग्या मुश्लिमों ने भारत के अलग अलग राज्यों में सरण ले ली। बांग्लादेश से सटे कई सारे राज्यों मैं इनकी संख्या काफी ज्यादा हो गई है। इसके बाद इनके लिए पुरे देश भर में रोष प्रकट होना सुरु हो गया कोई उनका बिरोध करने लगा तो कोई समुदाय उनका समर्थन करने लगा। मगर इस समस्या से निकलने का हल कोई भी नहीं दे सका। इसके बाद भारत सरकार ने इन्हे बापिस अपने देश भेजने की कार्यबाही सुरु कर दी।

अब जब सरकार ने इन्हे बापिस भेजने का फैसला किया है। तब से उनको पसंद करने बाले और उन्हें सरण देने बाले लोगो के बीच खलबली मची हुई है। क्यूंकि उन्हें इस सरकार के अंदर अपने मंसूबे पूरे होते नहीं दिख रहे है। फिलहाल इन सब बातो पर कई दिनों तलक बहस होती रहे थी। मगर अब कोई भी इन पर बहस नहीं कर रहा है। इस के बाबजूद आज रोहिंग्या को लेकर एक बड़ा खुलाशा हुआ है। जिसे सुन कर आप भी कहेंगे की यह सब गलता हो रहा हैं। आपको ये भी बता दे की ये सारे खुलाशे जम्मू कश्मीर मैं रह रहे रोहिंग्या मुश्लिमों के दवारा किया गए है।

source
source

दरअसल ये मामला लड़कियों को लेकर है जिसने भी सुना उसका ध्यान उनकी तरफ गया। दरअसल बन्हा रह रहे ककुछ रहोहिंग्या मुश्लिम अपने साथ और आस पास रह रही लड़कियों की तस्करी का काम करने लगे है। बह अपने साथ रह रही लड़कियों को अच्छी जिंदगी का बाद करके उनका सौदा किसी रहीश जाड़े या फिर दूसरे मुल्क के लोगो के साथ कर देते थे। मगर जब इसकी सूचना पुलिस और इंटेलिजेंस को लगी तब उन्होंने इसकी जांच सुरु की। तब इस पूरे मामले का खुलाशा हुआ है।

source
source

दरअसल लड़कियों को सप्लाई करने बाले एक रोहिंग्या मुश्लिम को पुलिस ने पकड़ा है। जब उससे इस बाबत पूछताछ की गयी तब उसने बताया है की उसने बताया है की हर जुमे की नमाज अत करने के बाद यंहा म्यांमार से लड़कियां लाकर बेचता था। उसके बाद पुलिस ने और पूछताछ की तो नूर नामक इस रोहिंग्या ने बताया की बह यह सारा काम जुमे बाले दिन करता है जिससे सुरच्छा एजेंसी को उस पर सक न हो। आपको बता दे जुमा यानी की सुक्रबार और शुक्र बार की नमाज को जुमे की नमाज कहा जाता है ,और इस नमाज को मुश्लिम धर्म के मानने बाले लोग काफी पबित्र मानते है।

और इसी को ध्यान में रखते हुए जम्मू और कश्मीर में जुमे बाले दिन सुरच्छा में थोड़ी छूट रहती है। जिससे हर मुश्लिम अपनी नमाज पूरी कर सके। और इसी का फायदा यह रोहिंग्या मुश्लिम उठा लेते थे। और बह म्यांमार से लड़कियों को लाकर यंहा बेच देते थे। नूर नामक इस रोहिंग्या के पास से लड़की को छुड़ाया भी गया है। जिसे बह म्यांमार से इसे बेचने लाया था।

source
source

पुलिस पूछताछ होने पर उसने पुलिस को सब कुछ बताया की बह कई सारी लड़कियों को एक साथ सुक्रबार के दिन यंहा भारत में लाता था। और उसके बाद बह खरीदारों को उन्हें मात्र 50,000 रूपये में बेच देता था। उसने कई जगहों पर जा कर लस्कियो के लिए खरीददारों से सौदा किया है। इसके अलाबा बह इंडिया के दूसरे राज्यों में भी लड़कियों को भेजता रहता था। आपको बता दे की जम्मू कश्मीर में कहा जा रहा है की इस समय रोहिंग्या लोगो की भरमार ज्यादा हो गई है। और इसी लिए यह जगह अब लड़कियों की तस्करी का एक सरल जगह में तब्दील होती जा रही है। अब यंहा पर ये कहाँ बिलकुल भी गलत नहीं होगा की रोहिंग्या मुश्लिमों का भारत में रहना किसी खतरे की घंटी से कम नहीं होगा। बह यंहा रहे तो सामाजिक असुंतलन होना लाजिमी बात होगी और इससे आपराधिक गति बिधियो को भी बढ़ाबा मिलेंगे।

इसी लिए मोदी सरकार हर सम्भब प्रयास कर रहे है जिससे उन्हें बापिस उनके देश भेजा जा सके। मगर अपराध करने बाले और उनका साथ देने बाले लोगो को ये बात बिलकुल भी पसंद नहीं आ रही है। इसी लिए बह रोहिंग्या के बापिस भेजे जाने को लेकर मोदी सरकार का विरोध कर रहे है।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here