दिल्ली के मुख्य सचिब को अरविन्द केजरीवाल ने घर बुला कर पीटा

0
195
source

दिल्ली एक बार फिर शर्मिंदा हुई है। देश की प्रतिस्थित लोग जो की इस देश की सेबा कर रहे है उनके साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री ने शर्मिंदगी बाला कार्य किया है। 19 फ़रवरी की रात को जो कुछ भी दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपने आबाश पर किया उसके बारे में सायद लोग जान चुके होंगे अगर नहीं जानते हो तो यह पूरा बकया पढ़ ले।

दिल्ली में मुख्यमंत्री केजरीवाल के द्वारा अपने मुख्य सलाहकार के द्वारा दिल्ली के मुख सचिब को रात के 12 बजे बुलाया। बनही केजरीवाल के साथ उनके घर उप मुख्यमंत्री सिसौदिया और उनके साथ 11 अन्य विधायक पहले से ही मौजूद थे। मुख्य सचिब को बार बार फोन करने के बाद उन्हें घर आने का दबाब डाला गया तब मुख्य सचिब अपने घर से रात के समय ही उनके घर पहुंच गए। जैसे ही केजरीवाल के घर मुख सचिब पहुंचे सबसे पहले केजरीवाल ने मुख सचिब को माँ बहन की गालिया देने सुरु कर दिया उसके बाद अपने बिधायको को इसारा करके मुख्य सचिब को पीटने के लिए कहा गया।

उसके बाद दो विधायकों के दवारा मुख सचिब को पीटा गया। मुख सचिब को उन दोनों बिधायको ने थप्पड़ लात घूंसे सब चीजों से पीटा।और उसी कमरे में मौजूद मनीष सिसौदिया और केजरीबाल पीछे से हँसते रहे।और इसी बात को लेकर दिल्ली के सारे आईएएस अधिकारी हड़ताल पर है और वो दिल्ली के 2 विधायकों की गिरफ़्तारी की मांग कर रहे है।

source

अब दिल्ली के मख्य सचिब ने दिल्ली पुलिस को अपने ऊपर होने बाली मारपीट और गालियां देने की लिखित में सूचना दी है। आप खुद ही देख सकते है की उन्होंने अपनी शिकायत में क्या क्या लिखा है।

दिल्ली के मुख्य सचिब ने अपनी लिखित सूचना में जो कुछ भी लिखा है। बह कुछ इस प्रकार है। रात करीब 12 बजे दिल्ली के मुख्यमंत्री के निजी सलाहकार ने मुख्य फोन कर तुरंत मुख्यमंत्री आबास आने के लिए कहा। तब मैंने इस बाबत उनसे कहा की हम कल सुबह मीटिंग कर लेंगे। तो बीके जैन जो की मुख्यमंत्री के निजी सलहाकार है उन्होंने कहा है की अभी मुख्यमंत्री साहब ने इसी बक्त बुलाया है।

 

कई बार फोन करने के बाद में अपने PSO (सुरक्षा कर्मी) और अपने ड्राइवर के साथ मुख्यमंत्री के घर पहुंचा। जंहा पर मुझे सबसे पहले वीके जैन मिले ,उसके बाद बह मुझे अकेले ही मुख्यमंत्री के घर के अंदर ले गए। घर के अंदर उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया और 11 विधायक के साथ खुद मुख्यमंत्री केजरीवाल मौजूद थे। इसके बाद मुझे 3 सीटर सोफे पर 2 विधायकों के बीच में बिठाया गया। इसके बाद केजरीवाल ने मुझे बताया की ये सब विधायक है और तुमसे बात करना चाहते है।

 

इसके बाद एक विधायक ने उस कमरे के दरबाजे को तेजी के साथ बंद कर दिया ,उसके बाद मुख्यमंत्री ने उनसे कहा की उनकी सरकार के 3 साल पूरे हो गए है ,हमे और प्रचार करना है ,तुम प्रचार के लिए पैसा क्यों नहीं आबंटित कर रहे हो। तो मैंने कहा सर सुप्रीम कोर्ट के आर्डर के खिलाफ पैसा कैसे आबंटित किया जा सकता है।

इस पर केजरीवाल ने अपने विधायकों से कहा की बात करो इससे। इसके बाद केजरीवाल के विधयक चिल्लाने लगे मुझ पर और कहने लगे की हमारा काम नहीं किया तो तुमको झूठे SC/ST केस में फंसा देंगे। पूरी जिंदगी बर्बाद कर देंगे। इसके तुरंत बाद उन्होंने मुझे गालिया देना सुरु कर दिया और उसके तुरंत बाद अमानतुल्लाह खान और एक विधायक (प्रकाश जरवाल) ने मुझे अचानक ही सर पर जोर जोर से थप्पड़ और घूंसे मारने शुरू कर दिए किसी ने भी उस कमरे में मौजूद सदस्य ने मुझे बचाने की कोसिस नहीं की और केजरीवाल और मनीष सिसौदिया बन्हा बैठे हँसते रहे।
मुख्य सचिव ने पुलिस से मांग करी है की कानून के मुताबिक सख्त कार्यवाही की जाये !!

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here