बीच डिवेट मैं मौलाना को संबित ने लताड़ा, कहा मंदिर तो बंही बनेगा

0
325
source
source

प्रधानमंत्री मोदी की सरकार जब से सत्ता में आयी है। तब से देश लगातार विकाश की राह चल रहा है। विकास के साथ साथ देश की जनता की मांग है की प्रधानमंत्री मोदी जितना जल्दी हो सके राम मंदिर को सुलझाकर जल्द से जल्द बिबादित स्थल पर भव्य मंदिर का निर्माण कराये। आप सब ने देखा ही होगा राम मंदिर को लेकर अक्सर टीवी पर डिवेट होते देखे ही होंगे। आज हम आपको एक ऐसे ही टीवी डिवेट के बारे मैं बताने जा रहे है जिसमे डॉक्टर संबित पत्र ने राम मंदिर के मुद्दे पर एक मौलाना को जम कर लताड़ा।

अभी कुछ दिनों पहले ही आपने एक टीवी न्यूज़ चैनल के डिवेट पर देखा होगा की आल इंडिया मुश्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के पूर्ब सदस्य मौलाना सलमान नदबी ने एक दाबा किया था की प्रधानमंत्री की एक मोदी की टीम ने उनसे अयोध्या के अंदर राम मंदिर बनबाने में मदद के लिए उनसे संपर्क किया था। .और इसी जाँच में आपने देखा होगा की इसी चर्चा का हिस्सा बनने के लिए इस्लामिक स्कॉलर अरसद काजमी भी आये थे।

source
source

तभी उसी समय उस डिवेट में उन्होंने कुछ ऐसा कहा जिसे सुन कर भाजपा के तेज तर्रार प्रबक्ता संबित पात्रा भड़क गए और उन्होंने अरसद काजमी को नसीहत लताड़ते हुए कहा है की इतना ज्यादा अहंकार शोभा नहीं देता है मौलाना साहब। अगर आपने महाभारत पडी होगी तो याद होगा कौरवो ने भी पांडवो को बोला था की एक इंच भी जमीन नहीं देंगी हम तुम्हे। मगर पांडवो ने ले ही ली न। तुम कौन हो जो हमे जमीन देने के लिए मना कर रहे हो।

source
source

दरअसल बात ये थी कि मौलाना नदवी का जिक्र करते हुए कहा था की बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी एक इंच भी जमीन नहीं छोड़ेगी जिससे हिन्दुओ मंदिर बनाने का मौका मिले। और इतना कहने के बाद भी मौलान साहब संत नहीं हुए उन्होंने उन्हे तलक कह दिया की अरे बह जमीन हमारी है ,क्यूंकि मस्जिद हमारी थी और जब मस्जिद हमारी थी तो हम जमीन क्यों देंगे ? और इसी बात को लेकर और मौलाना के बार ”अरे ” सब्द का गलत तरीके के साथ प्रयोग करना संबित पात्रा को बिलकुल भी अच्छा नहीं लगा। और इसी बात को लकर संबित ने डिवेट मैं ही मौलाना की जैम कर क्लास लगा दी।

 

संबित ने कहा की तुम यह ”अरे अरे ” करके मुझे धमकी मत दो और कान खोल के बात सुनो मेरी तुम होते कौन हो हमे हमारी ही जमीन देने बाले। और संबित ने कहा की कान खोल के सुनो मौलाना हम की एक इंच जमीन की मांग नहीं कर रहे है हमे अपने राम लला के जन्म भूमि की पूरी जमीन चाइये और मंदिर तो बनही बनेगा।

इसके बात संबित के द्वारा मुलाना को फटकार लगने के बाद एक बार फिर से मौलाना ने अपनी अबाज को बुलंद करने की कोसिस की तब संबित ने मौलाना से शांत रहें और अपनी जगह पर बैठे रहनी की नशीहत दी। उन्होंने मौलाना को कहा की मौलाना इतना मत चीखो गला फट जायेगा ,नस फैट जाएगा ,और एक बात तुम होते कौन हो जमीन देने बाले अरु तुम चाहे कितना भी कहो मंदिर तो बनही बनेगा।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here