बोल और सुन नहीं सकता है यह बच्चा ,मगर इसके काम की बजह से प्रधानमंत्री मोदी भी है इसके फैन

0
224
source
source

आप लोगो को एक बात याद होगी कि प्रधान मंत्री मोदी ने अभी कुछ दिन पहले ही ”मन की बात ” कही थी। और इसी मन की बात मैं प्रधानमंत्री ने एक बच्चे का जिक्र किया था। आप जानते है की बह बच्चा कौन है ,जी हां जिस बच्चे की खुद प्रधानमंत्री ने तारीफ की उस बच्चे का नाम है ”तुषार” इस बच्चे की तारीफ प्रधान मंत्री ने अपने गुजरात चुनाव से पहले किये गए ”मन की बात ” में की थी। और आज इस बच्चे की हर कोई तारीफ करता है। मगर किस्मत का खेल देखिये जिस बच्चे की दुनिया भर मैं तारीफ की जा रही है बह बच्चा बोल नहीं सकता है। जब यह कार्यक्रम प्रसारित किया गया तब भाजपा ने अपने कार्यकर्ताओ से अनुरोध किया था की बह सड़को पर रेडिओ ले कर जाए और लोगो को ”मन की बात ”नामक प्रधानमंत्री के कार्यक्रम से जोड़ने का प्रयाश करे। और तभी प्रधानमंत्री ने खुद इस बच्चे की तारीफ की।

source
source

अब आप यह जाने के लिए तो उत्सुसक होंगे ही की जिस बच्चे की तारीफ खुद प्रधानमंत्री कर रहे हो आखिर बह बच्चा है कौन। तो आइये हम आपको बताते है तुषार के बारे में। तुषार का जन्म मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले मैं स्थित कुम्हरी गॉव मैं हुआ था। और इसके अलाबा तुषार दिब्यांग है और बह सुन और बोल नहीं सकता है। लेकिन इतना सब कुछ उसके साथ होने के बाद भी उसने हिम्मत नहीं हारी बैसे तो तुषार गॉव के ही एक स्कूल में चौथी क्लास मैं पढता है। मगर उसके कारनामे की बजह से उसी आस पास के लोग भी जानते है ,उसके साथ ही जब से उसकी तारीफ खुद प्रधान मंत्री मोदी ने की है तब उसे आज हर कोई जनता है। तुषार के कारनामे ऐसे है की जिसे हम और आप करने मैं बहुत ज्यादा सोचते है। तुषार ने अकेले अपने दम पर अपने पुरे गॉव को ओडीएफ (open defecation free) यानी की खुले में शौच से मुक्त बनाया है। तुषार किसी को भी पुरे गॉव में खुले में सौच नहीं करने देते है।

source
source

महात्मा गांधी के इस सफाई कार्यक्रम को सत्ता मैं आते ही प्रधान मंत्री ने एक अलग नाम के साथ और एक अलग सोच के साथ प्रमोट किया। तब उसेक बाद प्रधान मंत्री के इस स्वछता अभियान को लोग धीरे धीरे समझने लगे और उस कार्यक्रम में अपना सहयोग भी देने लगे। और इसी क्रम को अपने दम पर पुरे गॉंव को सौच मुक्त करना तुषार का सराहनीय काम था।

source
source

तुषार बचपन से बोल और सुन नहीं सकता है मगर उसके अंदर सफाई को लकर बहुत बड़ी जिज्ञासा है। इसी लिए बह रोज पुरे गॉव के अंदर सीटी बजा बजा कर सब को खुले मैं सौच करने से रोक देता है। पहले तो लोगो को तुषार की यह हरकत अच्छी नहीं लगी और फिर इसके बाद तुषार को पुरे गॉव से जलालत झेलनी पड़ी। लोग जब खुले मैं सौच करने जाते तब तुषार उन्हें सीटी मार के भागने के लिए खता इसी एब्ज मैं उसे थोड़ा बहुत विरोध भी झेलना पड़ा मगर उसके बाद धीरे धीरे सब कुछ सामान्य होने लगा। लोगो को तुषार का इशारा समझ आने लगा और गॉव के सभी लोगो ने खुले में सौच का बहिस्कार क्र दिया। इसी बात से प्रधान मंत्री मोदी ने तुषार और उसकी कार्य को बधाई दी और उसकी तारीफ भी की।

 

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here