मोहम्मद मुस्ताक लिखता था हिन्दुओ के नाम से मुश्ल्मानो को गालियां बाले खत, पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
309
source
source

एक बात तो आप लोग अच्छी तरह से जानते ही होंगे की हिन्दुस्तान के अंदर जिहादी लोग किस तरह से जिहाद को फैलाने पर तुले हुए है। यह जिहादी लोग अपना जिहाद फैलाने के लिए किस तरह से लोगो के साथ अपना बदला ले रहे है यह बात आप जान ही गए होंगे अब तलक। ऐसे ही जिहादी सोच रखने बाले अब्दुल तत्त्व जैसे लोग ,सुरेश ,रमेश सिंह ,महेश यादव ,या फिर किसी अन्य नाम से यह लोग जिहाद फैला रहे है। जानिये की क्यों कर रहे है ऐसे तत्व ऐसा काम।

किसी सामान्य हिन्दू नाम रख कर यह किसी ब्रह्मण को गाली देते है। फिर कोई और नाम रख कर यह शरारती तत्व किसी और हिन्दू बिरादरी को टारगेट करते है। जैसे की किसी यादव को फिर कसी राजपूत को फिर उसके बाद नम्बर अत है दलित भाइयो का फिर बह लोग किसी जाती का बन कर दलित हिन्दू भाइयो को गालिया देते है जिससे की अपश मैं बैर बन सके और हिन्दू जाती कमजोर हो सके .एक सोशल साइट्स पर अकाउंट है।

जिसका नाम है ”आंबेडकर कारवां ” यह असल मैं एक सलीम नाम का जिहादी चलता है और जो खुद को दलित बता कर दूसरे हिन्दुओ को गाली देता है। मगर सब भाइयो को साबधान किया जाता है की ऐसे लोगो से बचे जितना हो सके। और सभी हिन्दू भाई आपस मैं संगठन बना कर रहे। चाहें बह राजपूत हो या फिर कोई दलित हिन्दू भाई सब एक बराबर है। बरना बह दिन दूर नहीं जब ऐसी शरारती तत्व हमे आपस मैं ही लड़ा देंगे।

और अब एक ऐसा ही मामले के बारे मैं हम आपको बताने जा रहे है। मामला झारखण्ड के हजारीबाग का है जंहा एक युबक मुस्ताक को पुलिस ने तफ्तीश के बाद फिरफ्तार किया है। मोहम्मद मुश्ताक 40 साल दिहाद युबक है। और पुराने इचाक हजारीबाग बाले मुश्लिम बाहुल्य इलाके में रहता है। मोहम्मद मुश्ताक यंहा हिन्दुओ के क़त्ल की प्लानिंग कर रहा था। पुलिस को जब इसकी सुचना मिली पुलिस तुरनत हरकत मैं आयी और पुलिस ने तुरंत उसे गिरफ्तार किया।

मोहम्मद मुहताक स्थानीय मुश्ल्मानो को पत्र लिख कर उन्हें जिहाद के लिए उकसाता था। बह भी किसी हिन्दू युबक के नाम से यानी की आप सही समझ रहे है तो। ध्यान दीजिये की एक मुश्लिम युबक हिन्दुओ के नाम से मुश्लमानो को पत्र लिखता था। पत्र मैं बह ऐसी भाषा का प्रयोग करता था जिसे पढ़ कर किसी भी इंसान का खून खौल उठे।

उस युबक का मकसद साफ़ था की अगर जब कोई उसके पत्र को पड़ेगा तब उस मुश्लिम के अंदर हिन्दुओ के प्रति नफरत पनपेगी और लोग रोष मैं आएंगे फिर उसके बाद हिन्दू मुश्लिम दंगा होंगे। लेकिन बह एक बात भूल गया की जब दंगा होता है तब एक ही कौम के लोग नहीं मरते इंसानियत मरती है। और कत्ल दोनों तरफ के समुदायों का होता है। तो सभी मुश्लिम भाइयो से भी अनुरोध है ,की जब तलक किसी बात का पुख्ता पता न चलाए ऐसी किसी भी अफबाह पर बे बजह ध्यान न दे। और सभी साथ मिल कर ऐसे समाज के दुश्मन के लोगो को बहार का राश्ता दिखाए।

उस युबक को जब पुलिस ने पकड़ा तब उस युबक ने बताया की उसने एक पत्र लिखा सलीम जाबेद को जो की एक ”फ़िटबेल टेलर्स ” नमक दूकान चलाता है इसके बाद उस अभियुक्त ने मोहम्मद और इस्लाम को गालियां लिख कर मोहम्मद मुश्ताक ने भेजा ,फिर उस युबक ने एक हिन्दू युबक को खत लिखा एक मुश्लिम के नाम से। इसके बाद जाबेद बह लेटर लेकर पहुंचा पुलिस के पास और उसके द्वारा कही गई शिकायत मैं कहा गया है की उसे कोई हिन्दू पत्र लख कर गालिया दे रहा है। इसके बाद पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लिया और मामले की जांच की। जाँच मैं पुलिस को मुश्ताक की गिरफ्तार हुई।

REGISTER करें और पायें प्रत्येक Educational and Interesting Post, अपने EMail पर।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here