रोजाना मंदिर जाने से होते है यह हेल्थ बेनिफिट्स

Health Benefits of Daily Visiting a Temple : मंदिर में जाना आमतौर पर धर्म से जोड़ा जाता है। लेकिन मंदिर जाने के कुछ साइंटिफिक हेल्थ बेनिफिट्स भी हैं। अगर हम रोज मंदिर जाते हैं तो इससे कई तरह की हेल्थ प्रॉब्लम्स को कंट्रोल किया जा सकता हैं। आइये जानते हैं रोज मंदिर जाने से होने वाले 7 फायदों को बारे में..

हाई BP कंट्रोल होता है
मंदिर के अंदर नंगे पैर जाने से यहां की पॉजिटिव एनर्जी पैरों के जरिए हमारी बॉडी में प्रवेश करती है। नंगे पैर चलने के कारण पैरों में मौजूद प्रेशर प्वाइंट्स पर दवाब भी पड़ता है, जिससे हाई BP की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है।

कॉन्सेंट्रेशन बढता है

रोज़ मंदिर जाने और भौहों के बीच माथे पर तिलक लगाने से हमारे ब्रेन के ख़ास हिस्से पर दवाब पड़ता है। इससे कॉन्सेंट्रेशन बढ़ता है।

इसे भी पढ़ेंचमत्कारी शिवलिंग जिनकी लम्बाई निरंतर बढ़ती जा रही है

एनर्जी लेवल बढता है

रिसर्च के मुताविक, जब हम मंदिर का घंटा बजाते हैं, तो 7 सेकण्ड्स तक हमारे कानों में उसकी आवाज़ गूंजती है। इस दौरान बॉडी में सुकून पहुंचाने वाले 7 प्वाइंट्स एक्टिव हो जाते हैं। इससे एनर्जी लेवल बढ़ाने में हेल्प मिलती है।

इम्युनिटी बढता है
मंदिर में दोनों हाथ जोड़कर पूजा करने से हथेलियों और उंगलियों के उन प्वॉइंटस पर दवाब बढ़ता है, जो बॉडी के कई पार्ट्स से जुड़े होते हैं। इससे बॉडी फंक्शन सुधरते हैं और इम्युनिटी बढ़ती है।

इसे भी पढ़ें –  पवित्र स्वर्ण मंदिर की नीव एक मुस्लिम संत ने रखी थी, जानें गोल्डन टेम्पल से जुड़े ऐसे ही रोचक तथ्य

बैक्टीरिया से बचाव होता है

मंदिर में मौजूद कपूर और हवन का धुआं बैक्टीरिया ख़त्म करता है। इससे वायरल इंफेक्शन का खतरा टलता है।

स्ट्रेस दूर होता है
मंदिर का शांत माहौल और शंख की आवाज़ मेंटली रिलैक्स करती है। इससे स्ट्रेस दूर होता है।

डिप्रेशन दूर होता है
रोज़ मंदिर जाने और भगवान की आरती गाने से ब्रेन फंक्शन सुधरते हैं। इससे डिप्रेशन दूर होता है।

इसे भी पढ़ें –  यह है शनिदेव के प्रसिद्ध मंदिर, जहां दर्शन करने से दूर होते हैं शनि दोष

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 Shares